close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

रोजाना नाश्ते में खाएं 50 ग्राम दलिया, कुछ दिन में ही दिखाई देगा चमत्कार

दलिया यानी सेहत का खजाना. दलिये का सेवन आपके स्वास्थ्य को कई तरह से फायदा पहुंचाता है. अमूमन लोग दलिये का सेवन नाश्ते में करते हैं. यदि आप रोज सुबह 50 ग्राम दलिये खाते हैं तो यह आपके शरीर के लिए कई तरह से फायदेमंद साबित होगा.

रोजाना नाश्ते में खाएं 50 ग्राम दलिया, कुछ दिन में ही दिखाई देगा चमत्कार

नई दिल्ली : दलिया यानी सेहत का खजाना. दलिये का सेवन आपके स्वास्थ्य को कई तरह से फायदा पहुंचाता है. अमूमन लोग दलिये का सेवन नाश्ते में करते हैं. यदि आप रोज सुबह 50 ग्राम दलिये खाते हैं तो यह आपके शरीर के लिए कई तरह से फायदेमंद साबित होगा. दलिया विटामिन और प्रोटीन से भरपूर होता है. इसके अलावा इसमें लो कैलोरी और फाइबर भी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है. दलिया एक ऐसा आहार है जो आपके शरीर में सभी पोषक तत्वों की मात्रा को पूरा करता है. सुबह में दलिया खाने से दिनभर के लिए जरूरी सभी तत्व पूरे हो जाते हैं. आगे पढ़िए प्रतिदिन दलिये के सेवन से होने वाले फायदे के बारे में विस्तार से.

कोलेस्ट्रॉल नियंत्रित करें
आजकल कोलेस्ट्रॉल बढ़ने की समस्या आम है. दलिया में घुलनशील और अघुलनशील दोनों ही फाइबर पाए जाते हैं. शरीर में उच्च मात्रा में फाइबर होने से कोलेस्ट्रॉल की मात्रा नियंत्रित रहती है. जिससे व्यक्ति को हृदय रोग होने की संभावना न के बराबर रहती है. एक शोध से भी साफ हो चुका है जो लोग प्रतिदिन दलिये का सेवन करते हैं, उन्हें हृदय रोग होने की आशंका न के बराबर होती है.

वजन घटाएं
भागदौड़ भरी जिंदगी और आधुनिक जीवनशैली के बीच युवाओं में वजन बढ़ने की आम समस्या है. कार्बोहाइड्रेट की उचित मात्रा वाले दलिये को सुबह के समय नाश्ते में खाने से शरीर में पूर्ण आहार पहुंचता है. जिससे आपका वजन नियंत्रित रहता है. थोड़ी सी मात्रा में ही दलिये का सेवन करने से आप पेट को भरा हुआ महसूस करते हैं.

हड्डियों को दें मजबूती
आजकल हड्डियों में कमजोरी आम समस्या है. मैग्नीशियम और कैल्शियम का खजाना होने के कारण दलिये का नियमित सेवन हड्डियों को मजबूती प्रदान करता है. दलिया का नियमित सेवन करने वालों को उम्र दराज होने पर जोड़ों के दर्द की शिकायत नहीं होती. इसके अलावा दलिया खाने से पित्त की थैली में पथरी की समस्या भी दूर होती है.

डायबिटीज में असरकारक
दलिया और साबुत अनाज में मैग्नीशियम की भरपूर मात्रा होती है. मैग्नीशियम लगभग 300 प्रकार के एंजाइम बनाता है, खासतौर पर ऐसे एंजाइम जो इंसुलिन के बनने में मददगार होते हैं. साथ ही ये ग्लूकोज की जरूरी मात्रा को भी ब्लड तक पहुंचाते हैं. रोजाना दलिया का सेवन करने से टाइप-2 डायबिटीज होने की आशंका काफी हद तक कम हो जाती है.

ब्रेस्ट कैंसर से बचाव
दलिये का सेवन महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर से बचाता है. आजकल यह महिलाओं में होने वाली सबसे बड़ी समस्या बन गई है. साबुत अनाज चाहे वह दलिया हो या कुछ और उसमें फाइबर पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है, जिससे ब्रेस्ट कैंसर होने की आशंका कम होती है. शोध से यह साफ हो चुका है कि फाइबरयुक्त अनाज से लंग, ब्रेस्ट, ओवेरियन कैंसर जैसे खतरनाक रोगों से निजात पाया जा सकता है.

हीमोग्लोबिन बढ़ाए
आयरन की कमी से शरीर में हीमोग्लोबिन का स्तर कम हो जाता है. हीमोग्लोबिन कम होने से शरीर में कमजोरी और थकान की शिकायत आम हो जाती है. दलिया आयरन का अच्छा स्रोत है, जो शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा को बैलेंस करता है. इसके अलावा दलिया शरीर के तापमान और मेटाबॉलिज्म को भी सही मात्रा में बनाए रखता है.

ऊर्जा का स्रोत
दलिये का सेवन करने वाले व्यक्ति दिनभर ऊर्जावान महसूस करता है. ऐसा दलिया में पाए जाने वाले कार्बोहाइड्रेट के कारण होता है. प्रतिदिन एक कप दलिया खाकर शरीर में विटामिन बी1, बी2, मिनरल्स, मैग्नीशियम, मैग्नीज आदि की पूर्ति की जा सकती है. इसमें मौजूद न्यूट्रिीएंट्स शरीर से एंटी-ऑक्सीडेंट को बाहर निकालकर कई बीमारियों से बचाते हैं.

क्या है दलिया
दलिया एक प्रकार का साबुत अनाज होता है जो शरीर को स्वास्थ्यवर्धक बनाता है. दलिया को बनाना और खाना बेहद आसान होता है. इसे दूध या फलों के साथ बनाया जा सकता है. आप मीठा या नमकीन दलिया भी बना सकते हैं. नाश्ते में दलिये का सेवन सबसे ज्यादा फायदेमंद बताया गया है. इसे पकाने से इसके पोषक तत्वों में किसी प्रकार की कमी नहीं आती.