क्या कोरोना मरीजों में बढ़ रहा हार्ट अटैक का खतरा? जानिए किस बात का रखें ध्यान
X

क्या कोरोना मरीजों में बढ़ रहा हार्ट अटैक का खतरा? जानिए किस बात का रखें ध्यान

ऑक्सफोर्ड जर्नल के अनुसार, कोरोना संक्रमण से गंभीर रूप से संक्रमित होने वाले 50 फीसदी लोगों में हार्ट की समस्याएं हो रही हैं. 

क्या कोरोना मरीजों में बढ़ रहा हार्ट अटैक का खतरा? जानिए किस बात का रखें ध्यान

नई दिल्लीः कोरोना संक्रमण से उबरने के बाद भी लोगों में स्वास्थ्य संबंधी कई समस्याएं देखने को मिल रही हैं. इनमें थकान, कमजोरी के साथ ही दिल की समस्याएं भी शामिल हैं. ऑक्सफोर्ड जर्नल के अनुसार, कोरोना संक्रमण से गंभीर रूप से संक्रमित होने वाले 50 फीसदी लोगों में हार्ट की समस्याएं हो रही हैं. कुछ लोगों में घबराहट, ब्लड प्रेशर बढ़ना और दिल की धड़कन बढ़ने की दिक्कत हो रही है तो कुछ लोगों में कार्डियक अरेस्ट के मामले भी देखे गए हैं. 

कैसे है हार्ट अटैक का खतरा?
डॉक्टर्स का कहना है कि कोरोना संक्रमण में मरीजों में खून के थक्के बनने की समस्या हो रही है. जिससे दिल की समस्याएं हो सकती हैं. कुछ मामलों में कोरोना संक्रमण में मरीज के दिल में सूजन भी देखी गई है. इसके अलावा संक्रमण दिल की मांसपेशियों को सीधे नुकसान पहुंचा सकता है. उससे भी दिल की बीमारियों का खतरा है. 

बरतें सावधानी 
डॉक्टर्स का कहना है कि कोरोना से रिकवरी के बाद मरीज सतर्कता बरतें. सांस लेने में दिक्कत, थकान, कमजोरी के साथ पैर, तलवों में सूजन आती है तो डॉक्टर की सलाह लें. दरअसल खून के थक्के जमने से यह दिक्कत हो सकती हैं. अलग अलग अंग में अगर खून के थक्के जमने की दिक्कत होती है तो ये अंग ठीक से काम नहीं कर पाते. शरीर का कोई अंग सुन्न पड़ जाना या बोलने में दिक्कत आना भी खतरनाक है. ऐसे में शरीर से मिलने वाले लक्षणों पर ध्यान दें और कोई भी समस्या होने पर डॉक्टर से संपर्क करें.  

  

Trending news