सोया मिल्क बनने के पीछे है बड़ी दिलचस्प कहानी, धमाकेदार फायदे जानकर भी चौंक जाएंगे आप

Health Benefits of Soya Milk in hindi: अगर आपको नॉर्मल दूध पीना पसंद नहीं है, तो आप सोया मिल्क का सेवन कर सकते हैं. इससे भी दूध जैसे फायदे मिलते हैं..

सोया मिल्क बनने के पीछे है बड़ी दिलचस्प कहानी, धमाकेदार फायदे जानकर भी चौंक जाएंगे आप
सांकेतिक तस्वीर

शारीरिक स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए दूध का सेवन काफी फायदेमंद बताया जाता है. लेकिन सोया मिल्क को इसके बेहतर और फ्लेवर्ड विकल्प के तौर पर भी माना जाता है. क्योंकि इसके सेवन से कई धमाकेदार फायदे मिलते हैं. मगर सोया मिल्क के बनने की कहानी भी बड़ी रोचक है. दरअसल, जब टोफू (Tofu) का निर्माण किया जाता है, तो उसके दौरान एक तरल पदार्थ निकलता है. जिसे पहले वेस्ट प्रॉडक्ट (बचा हुआ बेकार उत्पाद) मान लिया जाता था. लेकिन बाद में जब इस वेस्ट प्रॉडक्ट के हेल्थ बेनिफिट्स की सच्चाई सामने आई तो दुनिया चौंक गई. आज के समय में सोया मिल्क को दुनिया के हर हिस्से में पसंद किया जा रहा है. क्योंकि इससे मिलने वाले स्वास्थ्यवर्धक फायदे ही ऐसे हैं. आइए अब सोया मिल्क के हेल्थ बेनिफिट्स के बारे में जानते हैं.

ये भी पढ़ें: डॉक्टर की राय: 2 से 3 दिन में पथरी निकाल देगा आयुर्वेद का 1 छोटा-सा नुस्खा

सोया मिल्क के फायदे (Health Benefits of Soya Milk)
सोया मिल्क में विटामिन ए, विटामिन बी, कैल्शियम, फोलेट, फाइबर, पोटैशियम, रेटिनोल जैसे भरपूर फायदेमंद विटामिन, मिनरल्स और एंटीऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं. इसके अलावा, अगर आप प्रोटीन से भरे शाकाहारी फूड को ढूंढ रहे थे, तो सोया मिल्क आपकी मंजिल है. इसमें प्रचुर मात्रा में प्लांट बेस्ड प्रोटीन होता है. इसके अलावा, सोया मिल्क के सेवन से निम्नलिखित फायदे प्राप्त होते हैं.

डेयरी उत्पादों से होने वाले लैक्टोज इनटॉलेरेंस का बेहतर विकल्प
लैक्टोज इनटॉलेरेंस को लैक्टोज असहिष्णुता भी कहा जाता है. दरअसल, दूध, पनीर जैसे डेयरी उत्पादों में लैक्टोज नामक प्राकृतिक शुगर होती है. जिसे कुछ लोगों का पाचन तंत्र अच्छी तरह पचा नहीं पाता है. परिणामस्वरूप, इससे डायरिया, गैस, पेट फूलने जैसी समस्या हो सकती है. लेकिन, सोया मिल्क बिल्कुल लैक्टोज-फ्री होता है. इसलिए सामान्य दूध की जगह इसके सेवन की लोकप्रियता बढ़ रही है.

तेज और मजबूत दिमाग
सोया मिल्क में भरपूर मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड्स होते हैं. यह फैटी एसिड्स हेल्दी फैट्स होते हैं, जिन्हें हमारा शरीर प्राकृतिक रूप से बना नहीं पाता है. ओमेगा-3 का संबंध दिमाग के कमजोर होने के कारण होने वाली डिमेंशिया, अल्जाइमर जैसी दिमागी बीमारी में कमी के साथ देखा गया है. अगर आप ओमेगा-3 फैटी एसिड को शाकाहारी फूड से प्राप्त करना चाहते हैं, तो सोया मिल्क सबसे बेहतर उपाय है.

ये भी पढ़ें: Corpse Pose: सिरदर्द और हाई ब्लड प्रेशर से राहत दिलाता है शवासन, जानें इसके चमत्कारिक फायदे

स्वस्थ दिल
सोया मिल्क पोटैशियम का बेहतरीन स्त्रोत है. पोटैशियम के सेवन और हाई ब्लड प्रेशर को कम करने व स्वस्थ नब्ज के बीच संबंध देखा गया है. इसके साथ ही सोया मिल्क के सेवन से कोलेस्ट्रॉल का स्तर भी नहीं बढ़ता है. इसलिए इसके सेवन से हाई ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित रखकर दिल को स्वस्थ रखने में मदद मिल सकती है.

मजबूत हड्डियां
सामान्य दूध हड्डियों के लिए काफी फायदेमंद होता है. लेकिन सोया मिल्क भी यह फायदा देता है. इसमें भी काफी कैल्शियम मजबूत होता है, जो आपकी हड्डियों को कमजोर होने से बचाता है. इसलिए आपको इसके सेवन से हड्डियों के स्वास्थ्य की चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है.

यहां दी गई जानकारी किसी भी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.