close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

फास्ट फूड ज्यादा खाने पर सांसों से आ सकती है बदबू!

सुबह सोकर उठने के बाद सांसों की बदबू आम बात है। लेकिन अगर दिनभर आपकी सांसों से दुर्गंध आती रहती है, तो यह चिंता करने वाली बात है। कुछ विशेष कारणों से सांसों से बदबू आ सकती है। फास्ट फूड खाना ऐसा ही एक कारण है। जी हां, फास्ट फूड से सांसों से बदबू आती है। लेकिन हां यह बर्गर में इस्तेमाल होनेवाले प्याज की वजह से नहीं होता। दरअसल बर्गर में बनी रहनेवाली नमी और तली हुई चीज़ों के कारण होता है। जिनकी वजह से आपके शरीर में ऐसी प्रतिक्रियाएं होती हैं और सांसों से बदबू आने लगती है।

फास्ट फूड ज्यादा खाने पर सांसों से आ सकती है बदबू!

नई दिल्ली : सुबह सोकर उठने के बाद सांसों की बदबू आम बात है। लेकिन अगर दिनभर आपकी सांसों से दुर्गंध आती रहती है, तो यह चिंता करने वाली बात है। कुछ विशेष कारणों से सांसों से बदबू आ सकती है। फास्ट फूड खाना ऐसा ही एक कारण है। जी हां, फास्ट फूड से सांसों से बदबू आती है। लेकिन हां यह बर्गर में इस्तेमाल होनेवाले प्याज की वजह से नहीं होता। दरअसल बर्गर में बनी रहनेवाली नमी और तली हुई चीज़ों के कारण होता है। जिनकी वजह से आपके शरीर में ऐसी प्रतिक्रियाएं होती हैं और सांसों से बदबू आने लगती है।

फ्राइज़ या पैटी को तलने के लिए जिस तेल का इस्तेमाल होता है वे आपके पाचक तत्वों या डाइजेस्टिव एन्जाइम्स के साथ मिलकर आपकी सांसों को दुर्गंधित कर देते हैं।

जर्नल ऑफ नैचुरल साइंसेस, बाओलॉजी एंड मेडिसिन में छपी एक स्टडी के अनुसार कम उम्र के लोग जो अक्सर या सप्ताह में 3-4 बार फास्ट फूड खाते हैं, उन्हें सांसों में बदबू की शिकायत अधिक है। जबकि वे जो कभी-कभार ही फास्टफूड खाते हैं उनकी सांसों से कम बदबू आती है। इस स्टडी में यह भी पाया गया कि फास्ट फूड को तैयार करने के लिए प्रयोग किए जानेवाले तेल की वजह से लोगों को एसिडीटी की समस्या का खतरा भी बढ़ता जाता है। एसिडिटी की वजह से गैस्ट्रिक रिफ्लक्स हो सकता है जो सांसों में दुर्गंध का एक प्रमुख कारण है। साथ ही, अगर आपको डायबिटीज़ जैसी कोई समस्या है तो मीठी चीज़ें खाने पर आपके मुंह में बैक्टेरिया बढ़ जाते हैं और जिससे सांसों की बदबू की समस्या कई गुना बढ़ जाती है।

अगर आप अपनी सांसों को तरोताज़ा बनाए रखना चाहते हैं तो ढेर सारी ताज़ी सब्ज़ियां और फल खाएं। सेब खाना आपकी सांसों को तरोताज़ा बनाने का एक अच्छा तरीका हो सकता है। इसी तरह संतरे और स्ट्राबेरीज़ भी आपके काफी काम आ सकती हैं। इन फलों से विटामिन सी मिलता है जो मुंह में एसिडिक माहौल बनाता है और बैक्टेरिया इस माहौल में पनप नहीं पाते और आपके सांसों की दुर्गंध नहीं बढ़ती।