close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

इस कंपनी के पेसमेकर में निकला फॉल्‍ट, भारत में लाखों मरीज कर रहे इस्‍तेमाल

पेसमेकर बनाने वाली अमेरिका की मेडट्रॉनिक इंडिया ने कहा है कि वह भारत में पेसमेकर मॉडलों को वापस नहीं मंगा रही है. दवा नियामक केंद्रीय दवा मानक नियंत्रक संगठन (CDSCO) ने पेसमेकर के प्रदर्शन को लेकर अलर्ट जारी किया था.

इस कंपनी के पेसमेकर में निकला फॉल्‍ट, भारत में लाखों मरीज कर रहे इस्‍तेमाल

नई दिल्ली : पेसमेकर बनाने वाली अमेरिका की मेडट्रॉनिक इंडिया ने कहा है कि वह भारत में पेसमेकर मॉडलों को वापस नहीं मंगा रही है. दवा नियामक केंद्रीय दवा मानक नियंत्रक संगठन (CDSCO) ने पेसमेकर के प्रदर्शन को लेकर अलर्ट जारी किया था. मेडट्रॉनिक ने कहा कि उसकी इस बारे में संबद्ध अंशधारकों से बातचीत चल रही है.

बैटरी कम होने पर तुरंत चिकित्सा जांच कराएं
सीडीएससीओ ने 3 मेडट्रॉनिक पेसमेकर मॉडलों के प्रतिरोपण वाले मरीजों को सतर्क किया है कि यदि उन्हें ऐसा कोई संकेत मिलता है कि उपकरण की बैटरी कम हो रही है तो वे तत्काल चिकित्सा जांच कराएं. मेडट्रॉनिक भारत में एस्ट्रा पेसमेकर, सोलारा CRT-पी और सेरेना CRT-पी बेचती है.

सीडीएससीओ से इस मामले पर बातचीत चल रही
कंपनी ने बयान में कहा, 'हम चिकित्सकों और संबंद्ध अंशधारकों के साथ लगातार बातचीत कर रहे हैं और हमने उन्हें प्रदर्शन के बारे में सूचित किया है. भारत में मरीजों के साथ इसको लेकर समस्या नहीं है.' कंपनी ने कहा कि यह उत्पाद को वापस लेने का मामला नहीं है. 'हमारी सीडीएससीओ से इस पर बातचीत चल रही है.'

कंपनी ने कहा कि फरवरी, 2017 से हमने कुल 2,66,700 उपकरण वितरित किए हैं. इनमें सिर्फ 3 में शिकायतें मिली हैं. इस मुद्दे के उभरने की अनुमानित दर 0.0028 प्रतिशत है. उपकरण लगाने के बाद पहले 12 माह की अवधि सबसे अधिक संवेदनशील होती है.