क्या Diabetes के मरीज शहद खा सकते हैं? जानें इस बारे में क्या है हेल्थ एक्सपर्ट्स की राय

डायबिटीज के मरीजों को वैसे तो मीठा खाना मना होता है लेकिन क्या शहद जो वैसे हेल्दी होता है डायबिटीज के मरीजों के लिए सेफ है?

ज़ी न्यूज़ डेस्क | Feb 19, 2021, 10:45 AM IST

नई दिल्ली: डायबिटीज के मरीजों को हमेशा यही सलाह दी जाती है कि उन्हें मीठी चीजों से दूर ही रहना चाहिए वरना ब्लड शुगर लेवल बढ़ सकता है जिससे उनकी बीमारी के लक्षण और ज्यादा बिगड़ सकते हैं. लेकिन एक सवाल जो अक्सर डायबिटीज के मरीजों के मन में आता है कि वो ये है कि क्या वे चीनी के विकल्प के तौर पर शहद यानी हनी का इस्तेमाल कर सकते हैं या नहीं? 

1/5

टाइप 2 डायबिटीज में शहद

honey in type 2 diabetes

वैसे तो डायबिटीज के मरीजों पर शहद का क्या असर होता है इस बारे में पुख्त तौर पर कुछ भी नहीं कहा जा सकता लेकिन इस बारे में हुई कुछ रिसर्च की मानें तो अगर सीमित मात्रा में शहद का सेवन किया जाए तो टाइप 2 डायबिटीज के मरीजों के लिए यह फायदेमंद हो सकता है. इसका कारण ये है कि शहद में एंटीऑक्सिडेंट्स के साथ ही हेल्दी विटामिन्स और मिनरल्स भी होते हैं जो चीनी में नहीं होते. 2018 में ऑक्सिडेटिव मेडिसिन नाम के जर्नल में प्रकाशित एक स्टडी की मानें तो सफेद चीनी की जगह शहद का सेवन करने से ब्लड ग्लूकोज लेवल को कम किया जा सकता है. 

2/5

डायबिटीज में चीनी की जगह शहद यूज करना सेफ है क्या?

honey instead of sugar

इसमें कोई शक नहीं कि स्वस्थ लोगों के लिए तो मिठास के तौर पर सफेद चीनी, पाउडर वाली चीनी, केन शुगर आदि की जगह शहद का इस्तेमाल एक हेल्दी सब्स्टिट्यूट है. लेकिन क्या यह डायबिटीज के मरीजों के लिए भी सेफ है? क्या डायबिटीज के मरीज भी शहद का सेवन कर सकते हैं? इस सवाल पर हेल्थ एक्सपर्ट्स का जवाब है- नहीं. डायबिटीज के मरीजों के लिए चीनी के विकल्प के तौर पर शहद का इस्तेमाल करना कहीं से भी फायदेमंद नहीं है. इसका कारण ये है कि चीनी की ही तरह शहद भी ब्लड शुगर लेवल को प्रभावित कर सकता है. 

3/5

शहद हेल्दी है, लेकिन डायबिटीज में नहीं

honey is healthy

दानेदार चीनी की तुलना में शहद ज्यादा मीठा होता है इसलिए लोग कम मात्रा में शहद का सेवन करते हैं जिससे मिठास का इन्टेक कम हो जाता है. साथ ही शहद, चीनी की तरह किसी रिफाइनिंग प्रक्रिया से नहीं गुजरता इसलिए यह एक हेल्दी विकल्प है. लेकिन बहुत से डॉक्टर और हेल्थ एक्सपर्ट्स डायबिटीज के मरीजों के लिए शहद का इस्तेमाल न करने की ही सलाह देते हैं. 

4/5

क्या कहती है रिसर्च?

what does research say

साल 2017 में हुई एक स्टडी में डायबिटीज के मरीजों में ब्लड ग्लूकोज लेवल और शहद के बीच क्या कनेक्शन है इसे जानने की कोशिश की गई. स्टडी के नतीजों में यह बात सामने आयी कि शहद ने फास्टिंग सीरम ग्लूकोज में कमी की, ब्लड शुगर लेवल को स्थिर रखा. साथ ही शहद में हाइपोग्लाइसिमिक इफेक्ट भी होता है जो ब्लड शुगर लेवल को कम कर सकता है. 

5/5

डॉक्टर से पूछे बिना न खाएं शहद

ask your doctor

शहद, सेहत के लिए फायदेमंद है चीनी की तुलना में और यह ब्लड शुगर को भी कम करता है ये बात तो सच है. लेकिन डायबिटीज के मरीजों के लिए शहद पूरी तरह से सेफ है इस बात को साबित करने के लिए अभी औऱ अधिक रिसर्च की जरूरत है. लिहाजा डायबिटीज के मरीजों को शहद का इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए और डॉक्टर से पूछे बिना डाइट में किसी भी चीज को शामिल न करें.

सेहत से जुड़े अन्य लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.