डियोड्रेंट और परफ्यूम लगाने के हैं कई नुकसान, ब्रेस्ट कैंसर तक का खतरा

डियोड्रेंट और परफ्यूम का अगर आप भी बहुत अधिक इस्तेमाल करते हैं तो यह खबर आपके काम की है. जानें इन चीजों के इस्तेमाल से कैसे कैंसर तक का खतरा हो सकता है.

डियोड्रेंट और परफ्यूम लगाने के हैं कई नुकसान, ब्रेस्ट कैंसर तक का खतरा
डियो और परफ्यूम यूज करने के नुकसान

नई दिल्ली: गर्मी के मौसम में पसीने की बदबू से बचने के लिए डियो और परफ्यूम का इस्तेमाल तो सभी लोग करते हैं. लेकिन सर्दी के मौसम में भी बहुत से लोग ऐसे हैं जो नहाने की बजाए सिर्फ डियो और परफ्यूम लगाकर ही काम चला लेते हैं. टूथपेस्ट, साबुन, शैंपू की ही तरह डियोड्रेंट (Deodarant) और परफ्यूम (Perfume) भी हमारी लाइफ का अभिन्न हिस्सा बन गए हैं जिनके बिना हमारा दिन पूरा ही नहीं होता. लेकिन क्या आप ये जानते हैं कि इन डियोड्रेंट और परफ्यूम्स में कितने केमिकल (Chemicals) होते हैं, जिनका सेहत पर कितना बुरा असर होता है?

डियोड्रेंट के अधिक यूज से ब्रेस्ट कैंसर का खतरा

रिसर्च में यह बात सामने आयी है कि डियोड्रेंट और परफ्यूम में कई ऐसे कम्पाउंड्स पाए जाते हैं जो अंडरआर्म्स (Underarms) के फैट सेल्स में अवशोषित हो जाते हैं और इसकी वजह से न सिर्फ रैशेज (Rashes) बल्कि ब्रेस्ट कैंसर (Breast Cancer) का भी खतरा बढ़ जाता है. डियोड्रेंट में मुख्य रूप से ये 5 केमिकल कम्पाउंड्स पाए जाते हैं जिनकी वजह से बीमारियों का खतरा रहता है:

ये भी पढ़ें- बहुत अधिक गर्म पानी से नहाते हैं तो हो जाएं सावधान, न करें ये गलतियां

1. पैराबेन- रिसर्च की मानें तो डियोड्रेंट में इस्तेमाल होने वाला पैराबेन (Paraben), शरीर द्वारा एस्ट्रोजेन और अन्य हार्मोन्स के उत्पादन की प्रक्रिया में रुकावट पैदा कर सकता है. ब्रेस्ट में एस्ट्रोजेन-सेंसिटिव टीशू मौजूद होते हैं और रोजाना अंडरआर्म्स में पैराबेन वाले डियो का इस्तेमाल करने की वजह से कैंसर सेल्स के ग्रोथ का खतरा बढ़ जाता है. 

2. एल्यूमीनियम- पसीना रोकने वाले एंटीपर्सपिरेंट्स और डियो में एल्यूमीनियम (Alluminium) भी होता है और इस मेटल की वजह से शरीर के जीन्स में अस्थिरता आ जाती है और इस वजह से ट्यूमर और कैंसर कोशिकाओं में वृद्धि होने लगती है. कई वैज्ञानिक रिसर्च में यह बात सामने आयी है कि डियो में मौजूद एल्यूमीनियम बेस्ड कंपाउंड ब्रेस्ट कैंसर को बढ़ाने का काम कर सकता है.

ये भी पढ़ें- अक्ल बादाम खाने से आती है लेकिन कच्चा नहीे भीगा हुआ, जानें कई फायदे

3. ट्राइक्लोसैन- डियो और एंटीपर्सपिरेंट समेत कई ब्यूटी प्रॉडक्ट्स में ट्राइक्लोसैन (Triclosan) का इस्तेमाल होता है ताकि इन उत्पादों को बैक्टीरियल संक्रमण से बचाया जा सके. ट्राइक्लोसैन के हार्मोन एक्टिविटी में रुकावट पैदा कर सकता है और थायरॉयड के फंक्शन को भी प्रभावित करता है.

4. सेंट या परफ्यूम- कई बार बहुत से लोगों को परफ्यूम या तेज सेंट (Fragrance) की वजह से छींक आना, आंखों से पानी आना या सिरदर्द जैसी समस्याएं देखने को मिलती हैं. ये एलर्जी (Allergy) के लक्षण हैं जो तेज खुशबू की वजह से होती है. कई लोगों में परफ्यूम या डियो जैसी चीजों का अधिक इस्तेमाल करने की वजह से कॉन्टैक्ट डर्मेटाइटिस नाम की बीमारी भी हो जाती है. इसमें त्वचा लाल हो जाती है, उसमें जलन होने लगती है और कई बार सूजन भी देखने को मिलती है.

सेहत से जुड़े अन्य लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.