Premature Ageing: क्या बुढ़ापा आने से पहले ही बूढ़े हो रहे हैं आप? लक्षणों को पहचानें और जरूर करें ये उपाय
X

Premature Ageing: क्या बुढ़ापा आने से पहले ही बूढ़े हो रहे हैं आप? लक्षणों को पहचानें और जरूर करें ये उपाय

बुढ़ापा आने से तो हम रोक नहीं सकते लेकिन अगर बहुत से लोग ऐसे भी होते हैं जिनमें उम्र बढ़ने से पहले ही शरीर और त्वचा पर बुढ़ापे के लक्षण दिखने लगते हैं. ऐसे लक्षणों और संकेतों की पहचान करना जरूरी है ताकि समस्या का समाधान किया जा सके.

Premature Ageing: क्या बुढ़ापा आने से पहले ही बूढ़े हो रहे हैं आप? लक्षणों को पहचानें और जरूर करें ये उपाय

नई दिल्ली: जैसे-जैसे व्यक्ति की उम्र बढ़ने लगती है शरीर की सारी प्रक्रियाएं धीमी पड़ने लगती हैं और बुढ़ापे (Ageing) के निशान शरीर पर नजर आने लगते हैं. त्वचा की कोशिकाओं (Skin Cells) की रिकवरी धीमी हो जाती है, हड्डियां कमजोर (Weak Bones) होने लगती है, बीमारियों का खतरा भी बढ़ जाता है. इन बदलावों को पूरी तरह से रोक पाना तो संभव नहीं है लेकिन Ageing के ये निशान अगर सही में उम्र बढ़ने से पहले (Premature Ageing) यानी 35 साल से पहले ही दिखने लगें तो आपको इसके लिए सतर्क हो जाने की जरूरत है. हम आपको यहां पर उन संकेतों और लक्षणों के बारे में बता रहे हैं जो यह बताते हैं कि बुढ़ापा आने से पहले ही बूढ़ें हो रहे हैं आप.

प्रीमैच्योर एजिंग के संकेतों को पहचानें

1. धीमी चाल से चलना- अगर 40 साल की उम्र में ही आपकी Walking speed कम हो जाए, आप धीमी गति से चलने लगें तो यह Premature Ageing का सबसे अहम संकेत माना जाता है. वॉकिंग को सबसे आसान और बेस्ट एक्सरसाइज माना जाता है. इसलिए हर व्यक्ति को रोजाना कम से कम 30 मिनट वॉक जरूर करना चाहिए. 

ये भी पढ़ें: भूल से भी वॉक करते समय न करें ये गलतियां

2. सीढ़ियां चढ़ने में परेशानी- उम्र बढ़ने पर हड्डियां और मांसपेशियां दोनों कमजोर हो जाती हैं जिससे सीढ़ी चढ़ने में परेशानी हो सकती है लेकिन 35-40 साल की उम्र में ही अगर सीढ़ियां चढ़ना पहाड़ चढ़ने के समान लगने लगे तो समझ जाइए की आप वक्त से पहले ही बूढ़े हो रहे हैं. 

3. कमजोर याददाश्त- वैसे तो Memory यानी याददाश्त कमजोर होना, चीजें भूल जाना या अल्जाइमर्स और डिमेंशिया की बीमारी 65 साल से पहले नहीं होती. लेकिन अगर 40 की उम्र में ही आप कोई चीज कहीं रखकर भूल जाते हैं, क्या करने के लिए ऊपर के कमरे में आए थे ये याद नहीं रहता  तो यह समय से पहले बुढ़ापा आने का संकेत है.

4. जोड़ों में दर्द- उम्र बढ़ने पर हड्डियों और जोड़ों में अकड़न होने लगती है जिसकी वजह से Osteoporosis और Osteoarthritis की समस्या हो जाती है. आमतौर पर 50-55 साल की उम्र में यह समस्या शुरू होती है लेकिन अगर 35-40 की उम्र में ही आपके जोड़ों में दर्द होने लगे तो समझ जाइए कि आपका बुढ़ापा पहले ही आ गया है.

5. एज स्पॉट्स- Age Spots को सन स्पॉट्स भी कहते हैं औहर ये आपकी त्वचा पर बनने वाले ऐसे निशान या दाग-धब्बे हैं जो लंबे समय तक सूरज की रोशनी के एक्सपोजर में रहने के कारण होते हैं. ये स्पॉट्स चेहरे पर, हथेली के पीछे वाले हिस्से पर दिखने लगते हैं. वैसे तो 40 की उम्र के बाद ये स्पॉट्स नजर आते हैं लेकिन बहुत से लोगों में यह उम्र से पहले भी दिख सकते हैं.

VIDEO

ये भी पढ़ें: अपौष्टिक आहार और खराब जीवनशैली से जल्दी आता है बुढ़ापा

6. झुर्रियां और बाल गिरना- 30 की उम्र का होते ही त्वचा में कोलाजन (Collagen) का उत्पादन कम हो जाता है. कोलाजन एक ऐसा प्रोटीन है जो त्वचा को उसका शेप देता है. त्वचा में कोलाजन की कमी की वजह से स्किन ढीली पड़ जाती है और झुर्रियां (Wrinkles) नजर आने लगते हैं. 50 की उम्र के बाल बालों का झड़ना भी एक सामान्य समस्या है. लेकिन अगर उम्र से पहले ही आपके चेहरे पर झुर्रियां दिखने लगे और बाल गिरने लगे तो सावधान हो जाइए क्योंकि ये प्रीमैच्योर एजिंग के निशान हैं.

इन उपायों को आजमाएं

- झुर्रियों की समस्या से बचने के लिए घर से बाहर निकलने से पहले सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें.

- बाल झड़ रहे हों, बाल पतले हो गए हों तो पोषण से भरपूर आहार का सेवन करने के साथ ही अपने शैंपू और कंडिशनर को जरूर बदलें.

- एज स्पॉट्स की समस्या हो तो डर्मेटॉलजिस्ट से मिलकर उचित ट्रीटमेंट करवाएं.

- चलने में या सीढ़ी चढ़ने में दिक्कत महसूस हो रही हो तो डॉक्टर से चेकअप करवाएं कि कहीं कोई अंदरूनी बीमारी तो नहीं.

सेहत से जुड़े अन्य लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Trending news