Diabetes की इस दवा से मोटापा होगा कम, नई स्टडी का दावा

मोटापे से ग्रस्त लोग वजन कम करने के लिए बड़ी संख्या में वेट लॉस सर्जरी करवाते हैं. लेकिन अब एक ऐसी दवा का पता चला है जिसके इस्तेमाल से सर्जरी की जरूरत नहीं पड़ेगी.

Diabetes की इस दवा से मोटापा होगा कम, नई स्टडी का दावा
मोटापा कम करने वाली दवा

नई दिल्ली: विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के आंकड़ों की मानें तो मोटापे की समस्या किसी महामारी की तरह दुनियाभर में तेजी से फैल रही है. आपको जानकर हैरानी होगी कि हर साल ओवरवेट या मोटापे (Obesity) से जुड़ी समस्याओं के कारण करीब 28 लाख लोगों की मौत हो जाती है. WHO ने 25 या इससे अधिक बीएमआई (Body Mass Index) को ओवरवेट और 30 या उससे अधिक बीएमआई को मोटापे की कैटिगरी में रखा है. लेकिन मोटापे की समस्या का सामना कर रहे लोगों के लिए अब एक अच्छी खबर आयी है.

16 महीने में 15% तक कम हो गया बॉडी वेट

द न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में प्रकाशित एक नई स्टडी की मानें तो सेमाग्लूटाइड (Semaglutide) नाम की डायबिटीज (Diabetes) की एक दवा है जिसका सेवन करने से ओवरवेट और मोटापे से ग्रस्त लोगों को 16 महीने की अवधि में औसतन करीब 15 प्रतिशत तक बॉडी वेट कम करने में मदद मिली. यह दवा इंजेक्शन के रूप में है जिसका एक शॉट हफ्ते में एक बार लेना था. इस दवा की मदद से शरीर में इंसुलिन (Insulin) का उत्पादन बढ़ता है और भूख को दबाने में भी मदद मिलती है. अमेरिका का फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (FDA) फिलहाल इस दवा को रिव्यू कर रहा है और अगर इसे अप्रूवल मिल जाता है तो यह अमेरिकी मार्केट में मिलने वाली वेट लॉस की पांचवीं दवा होगी. 

ये भी पढ़ें- मोटापे से बचना है तो जान लें एक दिन में कितनी रोटी और चावल खाना चाहिए

दवा लेने से वेट लॉस सर्जरी जितना वजन हो रहा कम 

इस स्टडी में 16 देशों के 2 हजार लोगों को शामिल किया गया था. इसमें से दवा का सेवन करने वाले करीब 70 प्रतिशत लोगों में 10 प्रतिशत से भी अधिक बॉडी वेट में कमी देखने को मिली. मौजूदा समय में सेमाग्लूटाइड नाम की यह दवा डायबिटीज के इलाज में इस्तेमाल होती है जो भूख को दबाने में मदद करती है और कैलोरी इनटेक (Calorie Intake) को भी कम करती है. इस स्टडी के मुख्य ऑथर और यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन के रैशेल बैटरहैम कहते हैं, 'अब तक कोई दवा इस लेवल तक वेट ल़ॉस कर पाने में सफल नहीं रही है, इसलिए यह दवा एक गेमचेंजर की तरह है. पहली बार ऐसा होगा जब मोटापे से ग्रस्त लोग सिर्फ दवा से वो हासिल कर पाएंगे जो सिर्फ वेट लॉस सर्जरी (Weight Loss Surgery) से कर पाना संभव था.' 

VIDEO    

ये भी पढ़ें- मोटापा घटाने के हर तरीके आजमाकर थक चुके हैं, करें ये एक काम, 1 हफ्ते में दिखेगा असर

मोटापे की वजह से होती हैं कई बीमारियां

इस स्टडी से जुड़े एक और ऑथर रॉबर्ट कशनर कहते हैं, वजन अधिक होने और मोटापे की वजह से लोगों में कई तरह की स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं देखने को मिलती हैं जैसे- डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर, गैस्ट्रोइसोफेगल रिफ्लक्स डिजीज (GERD), कैंसर आदि. ऐसे में अगर 10 प्रतिशत तक वजन भी कम हो जाए तो इन बीमारियों को दूर करने या उन्हें बेहतर तरीके से कंट्रोल करने में मदद मिल सकती है.

ये भी पढ़ें- पेट की चर्बी तेजी से कम करता है लहसुन, इन 3 तरीकों से करें इस्तेमाल

दवा के कुछ साइड इफेक्ट्स भी हैं

हालांकि जिन लोगों ने इस दवा का सेवन किया उनमें जी मिचलाना, उल्टी आना, डायरिया और कब्ज जैसे कुछ साइड इफेक्ट्स भी देखने को मिले. स्टडी में शामिल करीब तीन चौथाई लोगों में ये साइड इफेक्ट्स नजर आए. हालांकि दवा लेने के बाद इन पार्टिसिपेंट्स में फिजिकल फंक्शन बेहतर तरीके से होने लगा, उनके दर्द में कमी आयी, ब्लड प्रेशर और ग्लूकोज कंट्रोल भी बेहतर हो गया. 

सेहत से जुड़े अन्य लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.