जोड़ों के दर्द से बचने के लिए जीवन में लाएं ये जरूरी बदलाव

जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है, हमारे जॉइंट्स का स्वास्थ्य प्रभावित होने लगता है. ऐसे कई कारणों से हो सकता है जैसे फिजिकल एक्टिविटी कम होना, सही डाइट न लेना या डाइट में पोषक तत्वों की कमी होना.

जोड़ों के दर्द से बचने के लिए जीवन में लाएं ये जरूरी बदलाव

नई दिल्ली: हमारे शरीर में कई तरह की हड्डियां होती हैं, जो एक-दूसरे से जुड़ी होती हैं. जिस जगह पर ये हड्डियां जुड़ती हैं उन्हें जोड़ या जॉइंट्स कहा जाता है. ये जोड़ हमारे शरीर के सभी मूवमेंट्स और एक्टिविटीज़ को सपोर्ट करते हैं और शरीर की स्थिरता (stability) को बनाए रखने में मदद करते हैं. जॉइंट्स की मदद से ही हम हर रोज की गतिविधियों को कर पाते हैं जैसे कि चलना, दौड़ना, कूदना, मुड़ना सबकुछ.

हालांकि जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है, हमारे जॉइंट्स का स्वास्थ्य प्रभावित होने लगता है. ऐसे कई कारणों से हो सकता है जैसे फिजिकल एक्टिविटी कम होना, सही डाइट न लेना या डाइट में पोषक तत्वों की कमी होना. उम्र बढ़ने पर आपकी शारीरिक गतिविधियों पर असर न हो, इसलिए जॉइंट्स का ख्याल रखना जरूरी है. आइए जानते हैं कुछ टिप्स जो उम्र बढ़ने के साथ कमजोर हो रही हड्डियों के जोड़ों को हेल्दी रखने में मदद करेंगे-

हेल्दी डाइट लें
हमारी हड्डियां और जोड़ मुख्य रूप से कैल्शियम से बने होते हैं. इसलिए यह ध्यान रखें कि आप अपनी डाइट में नियमित रूप से कैल्शियम को शामिल करें. वो फूड खाएं जिनमें कैल्शियम होता है, जैसे ब्रोकोली, डेयरी प्रोडक्ट्स, लीन मीट, नट्स और सोया आदि. सीफूड भी कैल्शियम का बेहतरीन स्रोत है.

वजन कम करें
आपके जोड़ों में एक निश्चित वजन को संभालने की क्षमता होती है. अगर आपका वजन अधिक है, तो हो सकता है कि आप अपने जोड़ों पर अधिक तनाव डाल रहे हैं जिससे ये कमजोर हो सकते हैं. अगर आपका वजन जितना होना चाहिए, उतना नहीं है तो इसे कम करें. किसी डायटीशियन की हेल्प लें और सही वर्कआउट रूटीन को फॉलो करें.

कार्बोनेटेड ड्रिंक की जगह पानी पिएं
आपके शरीर के कार्टिलेज का लगभग 80% हिस्सा पानी से बना होता है. कार्टिलेज लचीले, कनेक्टिव टिशू होते हैं जो आपके जोड़ों को प्रोटेक्ट करते हैं. अगर आप अच्छी तरह से हाइड्रेटेड नहीं रहते हैं, तो आपका शरीर अपने फंक्शन को पूरा करने के लिए कार्टिलेज और अन्य हिस्सों से पानी लेता है जिससे आपके जोड़ों का स्वास्थ्य बिगड़ सकता है. इसलिए सही मात्रा में पानी का सेवन करें साथ ही कार्बोनेटेड ड्रिंक्स और सोडा की जगह पानी पिएं.

स्मोकिंग छोड़ें
धूम्रपान और तंबाकू का सेवन हृदय संबंधी समस्याओं से लेकर कैंसर तक, कई गंभीर रिस्क का कारण बनता है. इतना ही नहीं, यह आपके जोड़ों के स्वास्थ्य को प्रभावित करता है. स्मोकिंग करने से आपके शरीर में इंफ्लेमेशन बढ़ती है जिससे शरीर का हिलिंग प्रोसेस धीमा हो जाता है. इसलिए स्मोकिंग छोड़ें. 

कार्डियो एक्सरसाइज
कार्डियो एक्सरसाइज न केवल आपके दिल के स्वास्थ्य के लिए अच्छी है और आपके फेफड़ों की क्षमता को बढ़ाती हैं, बल्कि ये आपकी हड्डियों के लिए भी फायदेमंद है. जब जॉइंट हेल्थ की बात आती है तो लो-इम्पैक्ट कार्डियो (low-impact cardio) कार्डियो वर्कआउट जैसे जॉगिंग और दौड़ना बेहतर माना जाता है. हाई इम्पैक्ट कार्डियो एक्सरसाइज से बचें क्योंकि ये आपके जोड़ों पर अधिक प्रेशर डाल सकती हैं. 

Video-