फोनी चक्रवात से छाया था अंधेरा, एक महीने बाद भी बिजली आपूर्ति ठप्प

एक अधिकारी ने बताया कि तीन मई को आए फोनी का सर्वाधिक कहर पुरी जिले पर टूटा जहां 2,91,171 प्रभावित उपभोक्ताओं में से केवल 1,51,889 को ही फिर से बिजली मिल पाई है. फोनी की वजह से जिले में बिजली की अवसंरचना को गहरा नुकसान हुआ है.

फोनी चक्रवात से छाया था अंधेरा, एक महीने बाद भी बिजली आपूर्ति ठप्प
फाइल फोटो

भुवनेश्वर: पुरी के समीप फोनी चक्रवात के तबाही मचाने के एक माह बाद भी ओडिशा के तटीय जिलों में 1.64 लाख परिवारों के पांच लाख से अधिक लोग गर्मी और उमस भरे मौसम में रह रहे हैं. चक्रवात की वजह से ठप हुई बिजली आपूर्ति अभी बहाल नहीं हो पाई है.

एक अधिकारी ने बताया कि तीन मई को आए फोनी का सर्वाधिक कहर पुरी जिले पर टूटा जहां 2,91,171 प्रभावित उपभोक्ताओं में से केवल 1,51,889 को ही फिर से बिजली मिल पाई है. फोनी की वजह से जिले में बिजली की अवसंरचना को गहरा नुकसान हुआ है.

फोनी से राज्य के 14 जिलों के कुल 1.65 करोड़ परिवार प्रभावित हुए हैं. चक्रवात की वजह से कम से कम 64 लोगों की जान चली गई. अकेले पुरी जिले में 39 लोगों की मौत हुई. फोनी की वजह से अंगुल, ढेंकानाल, कटक, पुरी, नयागढ़, खुर्दा, केंद्रपाड़ा, जगतसिंहपुर और जैतपुर में भीषण नुकसान हुआ है.

लाइव टीवी देखें

चक्रवात प्रभावित इलाकों में पेयजल, बैंकिंग, दूरसंचार एवं अन्य सेवाओं में उल्लेखनीय सुधार हुआ है.ओडिशा के स्कूल एवं सामूहिक शिक्षा मंत्री समीर रंजन दास ने कहा कि अधिकारियों से स्कूलों की मरम्मत करने को कहा गया है क्योंकि गर्मी की छुट्टियां 19 जून को खत्म हो जाएंगी. पुरी के रहने वाले दास ने कहा कि जिले के ग्रामीण इलाकों में बिजली बहाल करने के लिए सभी प्रयास किए जा रहे हैं.