close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दुनिया की सबसे उंची चोटी बनी कूड़ाघर, 2 महीने के सफाई में 11000 Kg निकला कूड़ा

सेना के हेलीकॉप्टर एवरेस्ट के आधार शिविर से इस कूड़े को काठमांडू लाए.

दुनिया की सबसे उंची चोटी बनी कूड़ाघर, 2 महीने के सफाई में 11000 Kg निकला कूड़ा
.(फाइल फोटो)

काठमांडू: दुनिया की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट पर नेपाल सरकार के दो महीने के सफाई अभियान के दौरान वहां से 11000 किलोग्राम कूड़ा और चार शव हटाये गये. सेना के हेलीकॉप्टर एवरेस्ट के आधार शिविर से इस कूड़े को काठमांडू लाए. उनमें ऑक्सीजन के खाली सिलेंडर, प्लास्टिक की बोतलें, कनस्तर, बैटरियां, भोजन को लपेटकर रखने वाली चीजें, मानव मल और रसोईघर संबंधी अपशिष्ट शामिल हैं.

नेपाली सेना के जन संपर्क निदेशालय निदेशक बिज्ञान देव पांडे ने कहा, ‘‘विश्व पर्यावरण दिवस पर बुधवार को काठमांडू में नेपाल के सेना प्रमुख जनरल पूर्णचंद थापा की उपस्थिति में एक कार्यक्रम में कुछ कूड़ा एनजीओ ‘ब्लू वेस्ट टू वैल्यू’ को सौंपा गया है जो अपशिष्ट उत्पादों का पुनर्चक्रण करता है.’’

यह कार्यक्रम स्वच्छता अभियान के समापन पर आयोजित किया गया था. दुनिया की सबसे ऊंची चोटी से टनों कूड़ा लाने के लिए यह अभियान चलाया गया था. माउंट एवरेस्ट कूड़े के ढेर में तब्दील हो गया था. हर साल सैंकड़ों पर्वतारोही, शेरपा और भारवाहक एवरेस्ट की तरफ जाते हैं और अपने पीछे इस सबसे ऊंची चोटी पर टनों जैविक और अजैविक कूड़ा छोड़ आते हैं.