देश भर में डेंगू के 18,760 मामले सामने आए, केरल सबसे ज्यादा प्रभावित

देश भर में डेंगू के 18,760 मामले सामने आए, केरल सबसे ज्यादा प्रभावित
दिल्ली में दर्ज डेंगू के मामलों का आंकड़ा करीब 100 पहुंच रहा है. (प्रतीकात्मक चित्र)

नई दिल्ली. देश में इस साल अब तक डेंगू के 18,760 मामले सामने आए हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय ने इनके मामलों में तेजी आने की एक वजह मानसून के जल्दी आने को बताया है. सबसे ज्यादा मामले केरल में दर्ज हुए जहां दो जुलाई तक 9,104 लोगों इस बीमारी से ग्रस्त पाए गए. दूसरे स्थान पर तमिलनाडु रहा जहां 4,174 लोगों में यह बीमारी पाई गई.

मंत्रालय ने जारी किए डेंगू के आंकड़े

मंत्रालय द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के मुताबिक दो जुलाई तक, कर्नाटक में 1945 मामले, गुजरात में 616 मामले, आंध्र प्रदेश में 606 मामले और पश्चिम बंगाल में 469 मामले दर्ज किए गए. दिल्ली में दर्ज डेंगू के मामलों का आंकड़ा करीब 100 पहुंच रहा है. 

चिकुनगुनिया के 10,952 मामले दर्ज किए गए

दो जुलाई तक देशभर में चिकुनगुनिया के 10,952 मामले दर्ज किए गए हैं. इनमें से सबसे ज्यादा 4047 मामले कर्नाटक में दर्ज किए गए.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने की बैठक 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा ने मंगलवार को इस संक्रामक बीमारी से निपटने के लिए की गई तैयारियों की समीक्षा के लिए बुलाई गई एक बैठक की अध्यक्षता की. बैठक में स्वास्थ्य सचिव सी के मिश्रा, आईसीएमआर की महानिदेशक सौम्या स्वामीनाथन, राष्ट्रीय संक्रामक रोग नियंत्रण कार्यक्रम के सीनियर अधिकारी और अन्य संस्थानों से जुड़े अफसर शामिल हुए. 

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा 'अपनी तैयार से हम संतुष्ट'

बैठक के बाद नड्डा ने, 'हमनें दो समीक्षाएं की, एक दिल्ली के लिए और दूसरी बाकी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के लिए. मैं यह कह सकता हूं कि हम अपनी तैयारी से संतुष्ट हैं. हम इस मुद्दे पर पहले ही तीन वीडियो कॉन्फ्रेंस कर चुके हैं और 13 परामर्श जारी कर चुके हैं. सचिव, (स्वास्थ्य) जल्द ही दूसरे राज्यों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस करेंगे.' सचिव मिश्रा ने कहा कि मानसून के पहले पहुंचने की वजह से केरल डेंगू, मलेरिया और ऐसी दूसरी बीमारियों की मार झेल रहा है.