JNU छात्र शरजील इमाम की गिरफ्तारी की कोशिश तेज, अलीगढ़ से पुलिस की 2 टीमें रवाना

जेएनयू के छात्र शरजील इमाम के विवादित बयान के बाद अलीगढ़ पुलिस ने उसे पकड़ने की कोशिशें तेज कर दी हैं.

JNU छात्र शरजील इमाम की गिरफ्तारी की कोशिश तेज, अलीगढ़ से पुलिस की 2 टीमें रवाना
शरजील इमाम

नई दिल्ली: जेएनयू के छात्र शरजील इमाम के विवादित बयान के बाद अलीगढ़ पुलिस ने उसे पकड़ने की कोशिशें तेज कर दी हैं. शरजील को पकड़ने के लिए 2 अलग-अलग टीमें बनाई गई हैं. उसकी लोकेशन को ट्रेस किया जा रहा है और अलीगढ़ से पुलिस की टीमें उसे गिरफ्तार करने के लिए रवाना हो गई हैं. 

अलीगढ़ पुलिस ने शरजील इमाम के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया है. अलीगढ़ पुलिस ने एफआईआर में शरजील इमाम के बयान का पूरा जिक्र किया है, जिसमें शरजील ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्रों के सैयद बाबे इलाके में चल रहे CAA के प्रोटेस्ट में भड़काऊ बयानबाजी की थी और नार्थ ईस्ट को तोड़ने की बात की थी.

ये बयान शरजील ने 16 जनवरी को दिया गया था, सोशल मीडिया के जरिए अलीगढ़ पुलिस को उसका वीडियो मिला था, जिसकी जांच की गई और फिर एफआईआर दर्ज की गई. एफआईआर के मुताबिक शरजील पर आरोप है कि उसने सेना और भारत सरकार के खिलाफ घृणा फैलाई, भारत की एकता और अखंडता को खतरे में डालने की कोशिश की और कम्युनल हेट्रेड फैलाया.

शरजील इमाम के खिलाफ सिविल थाने में IPC की धारा 124A (देशद्रोह), 153A, 153B, 505(a) में एफआईआर दर्ज की गई है. 

ये भी देखें-

गौरतलब है कि जेएनयू के छात्र शरजील इमाम का एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें वो नॉर्थ ईस्ट और असम को हिंदुस्तान से हमेशा के लिए अलग करने की बात कह रहा था. शरजील के खिलाफ गुवाहाटी क्राइम ब्रांच पुलिस ने एफआईआर दर्ज की थी. शरजील के बयान पर एमआईएम अध्यक्ष असुद्दीन ओवैसी ने कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि भारत को कोई तोड़ नहीं सकता. ये मुल्क है, कोई मुर्गी की गर्दन नहीं. 

उधर, असम सरकार के मंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने शरजील पर कार्रवाई के संकेत दिए थे. उन्होंने कहा था, ''दिल्ली में शाहीन बाग विरोध प्रदर्शन के मुख्य आयोजक शरजील ने कहा है कि असम को शेष भारत से काट दिया जाना चाहिए. असम सरकार ने इस देशद्रोही बयान का संज्ञान लिया है और उसके खिलाफ मामला दर्ज करने का फैसला किया है.''  

इस मामले में कांग्रेस नेता राशिद अल्वी ने कहा कि एक आदमी खड़े होकर पैसा लेकर इस तरीके की बात करे तो आप पूरे आंदोलन को इल्जाम नहीं लगा सकते हैं. उस आदमी को गिरफ्तार कीजिए. ये तो बीजेपी का पुराना तरीका है. 

आम आदमी पार्टी ने शरजिल इमाम की गिरफ्तारी की मांग करते हुए कहा कि आखिर सरकार ने कार्रवाई क्यों नहीं की? डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा कि 24 घंटे में ऐसे व्यक्ति को गिरफ्तार कीजिए, जेल में डालिए. नहीं तो फिर ये माना जाएगा कि ये व्यक्ति आपकी (बीजेपी) साज़िश के तहत किसी तरह का बयान देता है. वहीं बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने ट्वीट किया है कि इन गद्दारों की बात सुनकर कैसे मान लूं कि इनका खून है यहां की मिट्टी में.   

16 जनवरी का है वीडियो 
अलीगढ़ पुलिस के मुताबिक शरजिल इमाम का ये वीडियो 16 जनवरी को अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी कैंपस में भाषण का है. पुलिस ने देशद्रोह के मामले में शरजिल पर केस दर्ज कर लिया है. शरजील इमाम के बयान को बीजेपी ने जेहाद बताया है. बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने वीडियो को शाहीन बाग का बताते हुए दावा किया था कि वहां भारत के टुकड़े करने की साज़िश रची जा रही है. उन्होंने कहा था कि प्रदर्शन की जगह शाहीन बाग नहीं, बल्कि दिशाहीन बाग है, तौहीन बाग है.