close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जम्मू कश्मीर की 62 साल पुरानी विधान परिषद खत्म

विधान परिषद को समाप्त करने के आदेश के साथ ही 36 सदस्यीय विधान परिषद के 23 सदस्यों की सदस्य्ता समाप्त हो गई है. 13 सदस्य पहले ही रिटायर हो चुके हैं. खत्म की गई विधान परिषद में बीजेपी के सबसे ज्यादा 10 सदस्य थे. 

जम्मू कश्मीर की 62 साल पुरानी विधान परिषद खत्म

श्रीनगर: 31 अक्टूबर को जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) और लद्दाख के 2 केंद्रशासित प्रदेश के तौर पर अस्तित्व में आने से 15 दिन पहले ही सरकार ने राज्य की 62 साल पुरानी विधान परिषद को खत्म कर दिया है.  62 साल पहले 1957 में सदन में पारित एक प्रस्ताव के तहत गठित विधान परिषद के समाप्त होने के बाद अब जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) में विधानसभा ही रहेगी. 5 अगस्त को जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) में धारा 370 खत्म किये जाने के साथ ही केंद्र सरकार ने जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) पुनर्गठन अधिनियम पारित कर राज्य को 2 केंद्र शाषित प्रदेशों जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) और लदाख में विभाजित कर दिया था. 

उसी अधिनियम की धारा 57 के तहत जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) विधान परिषद को समाप्त कर उसके 116 कर्मचारियों को 22 अक्टूबर तक GAD डिपार्टमेंट को रिपोर्ट करने को कहा है. विधान परिषद को समाप्त करने के आदेश के साथ ही 36 सदस्यीय विधान परिषद के 23 सदस्यों की सदस्य्ता समाप्त हो गई है. 13 सदस्य पहले ही रिटायर हो चुके हैं. खत्म की गई विधान परिषद में बीजेपी के सबसे ज्यादा 10 सदस्य थे. उसके बाद दूसरा नंबर 8 सदस्यों के साथ पीडीपी का था. 

लाइव टीवी देखें-:

खत्म हुई विधान परिषद में बीजेपी के सदस्य विक्रम रन्धावा ने इसे राष्ट्रहित मे उठाया गया कदम बताया. उनका कहना है कि इससे विधायकों पर होने वाली फ़िज़ूल खर्ची बचेगी.