जनता कफ्यू में शामिल होंगे देश के 7 करोड़ व्यापारी, दिल्ली समेत यहां का कारोबार रहेगा बंद

दिल्ली के लगभग 15 लाख छोटे बड़े व्यापारी भी जनता कफ्यू में शामिल होंगे.

जनता कफ्यू में शामिल होंगे देश के 7 करोड़ व्यापारी, दिल्ली समेत यहां का कारोबार रहेगा बंद

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) द्वारा गुरुवार को राष्ट्र को संबोधित करते हुए रविवार 22 मार्च को देश भर में जनता कर्फ्यू का आवाहन किया था. इसके सर्मथन में व्यापारियों के शीर्ष संगठन कॉन्फेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने शुक्रवार को इसका सर्मथन किया. उन्होंने घोषणा करते हुए बताया कि 22 मार्च को देश भर में कोई कारोबार नहीं होगा. उस दिन देश के 7 करोड़ व्यापारी अपने व्यापारिक प्रतिष्ठान पूर्ण रूप से बंद रखकर जनता कर्फ्यू में शामिल होंगे. वहीं व्यापारियों के यहा काम करने वाले तकरीबन 40 करोड़ कर्मचारी भी उस दिन घर में रहेंगे.  

कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीसी भारतीय एवं राष्ट्रीय महामंत्री श्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा की प्रधानमंत्री की यह पहल कोरोना वायरस के खतरे को कम्युनिटी ट्रांसमिशन में न बदले जाने की एक राष्ट्रीय कवायद है जो बेहद जरूरी है. उन्होंने बताया कि देश भर में लगभग 40 हजार से ज्यादा व्यापारिक संगठन जनता कर्फ्यू अभियान में शामिल होंगे, जहां महाराष्ट्र, गुजरात, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, राजस्थान, मध्य प्रदेश जैसे राज्यों के व्यापारिक संगठनों के साथ-साथ नार्थ ईस्ट, जम्मू कश्मीर, अंडमान निकोबार, लक्षद्वीप, पॉन्डिचेरी जैसे प्रदेशों के व्यापारी भी शामिल होंगे.
 
इसके अलावा दिल्ली के लगभग 15 लाख छोटे बड़े व्यापारी भी जनता कफ्यू में शामिल होंगे. बताते चलें कि दिल्ली में थोक बाजार रविवार को बंद रहते हैं, लेकिन अधिकांश रिटेल बाजार रविवार को खुलते हैं. लेकिन इस रविवार को दिल्ली के सभी थोक एवं रिटेल बाजार पूरी तरह बंद रहेंगे. इनमे प्रमुख रूप से करोल बाग़, कमला नगर, मॉडल टाउन, आजादपुर, साउथ एक्सटेंशन, ग्रेटर कैलाश, रोहिणी, शालीमार बाग़, पीतमपुरा, राजौरी गार्डन, उत्तम नगर, तिलक नगर, जनकपुरी, पटेल नगर, कालकाजी, ग्रीन पार्क, खान मार्किट, तुग़लक़ाबाद, विकास मार्ग, प्रीत विहार, लक्ष्मी नगर, गाँधी नगर, कृष्णा नगर, शाहदरा, लोनी रोड,नरेला, बवाना, आजादपुर, आदि बाजार शामिल है. 

गौरतलब है कि कैट ने देश के सभी राज्यों के लगभग 300 प्रमुख व्यापारिक संगठनों के नेताओं को जनता कर्फ्यू में शामिल होने के लिए व्हाट्सअप सन्देश भेजा और सभी से उनकी राय मांगी थी. जिसमें सहमति होने के बाद ही ये घोषणा कर गई है.

ये भी पढ़ें:- BSNL ने लॉन्च किया जीरो कॉस्ट वाला Work@Home प्लान, मौजूदा यूजर्स को फ्री मिलेगी सर्विस