महाराष्ट्र: मंत्रालय के सामने जहर खाने वाले 84 वर्षीय किसान की मौत

महाराष्ट्र सचिवालय ‘मंत्रालय’ के समक्ष जमीन के पर्याप्त मुआवजे की मांग करते हुए जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या का प्रयास करने वाले 84 वर्षीय किसान की रविवार रात मौत हो गई.

महाराष्ट्र: मंत्रालय के सामने जहर खाने वाले 84 वर्षीय किसान की मौत
किसान की मौत के बाद परिवार ने शव लेने से किया इनकार (फाइल फोटो)

मुंबई: महाराष्ट्र सचिवालय ‘मंत्रालय’ के समक्ष जमीन के पर्याप्त मुआवजे की मांग करते हुए जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या का प्रयास करने वाले 84 वर्षीय किसान की रविवार रात मौत हो गई. किसान को गंभीर हालत में स्थानीय जे जे अस्पताल में भर्ती करवाया गया था, जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई.

कम मुआवजा मिलने से नाराज था किसान
उत्तर महाराष्ट्र के रहने वाले किसान धरमा पाटिल की जमीन सरकार ने सोलर पावर प्लांट के लिए अधिगृहित की थी. इसके लिए उसे कम मुआवजा मिला था. इस महीने की 22 तारीख को पर्याप्त मुआवजे की मांग करते हुए उसने सचिवालय के समक्ष जहरीला पदार्थ खा लिया.

अधिकारियों ने बताया कि पाटिल का पोस्टमार्टम अस्पताल में करा दिया गया है और बाद में शव परिजनों के हवाले कर दिया जाएगा. किसान पाटिल जहर खाने के बाद खुद  सरकारी अस्पताल गए थे.

ऑनलाइन लॉटरी सिस्टम शुरू करने पर महाराष्ट्र सरकार कर रही है विचार

परिवार ने लगाए ये आरोप
पाटिल के बेटे का कहना है कि उन्होंने सही मुआवजा पाने के लिए काफी प्रयास किए थे. नरेंद्र पाटिल ने बताया कि उनके पिता को 5 एकड़ जमीन के लिए 4 लाख रुपये दिए गए थे. 84 साल के धरमा कई महीनों से सरकारी कार्यालयों के चक्कर काट रहे थे. लेकिन उन्हें हर जगह से असफलता ही हाथ लगी. मजबूर होकर 22 जनवरी को धरमा महाराष्ट्र सचिवालय के सामने जहरीला पदार्थ खा लिया था.

Budget Yatra: 'किसान' और 'खेती' शब्द बजट भाषण में सबसे अधिक बार हुए इस्तेमाल

परिवार ने कहा है कि वे तब तक धरमा का शव नहीं लेंगे जब तक उन्हें जमीन के एवज में उचित मुआवजा दिए जाने का लिखित आश्वासन न मिल जाए. वहीं किसान की मौत के बाद फडणवीस सरकार एक बार फिर विपक्ष के निशाने पर आ गया है.

(इनपुट एजेंसी से भी)

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.