मेघालय में 95 साल पुराना चर्च जला, 'दम घुटने' की वजह से 2 लोगों की मौत

मेघालय में रविवार को लगी आग में एक 95 साल पुराना गिरजाघर जलकर खाक हो गया. इस दुर्घटना में दो लोगों की मौत हो गई.

मेघालय में 95 साल पुराना चर्च जला, 'दम घुटने' की वजह से 2 लोगों की मौत
मुख्यमंत्री कॉनराड संगमा ने घटना को लेकर दुख प्रकट किया है.फोटो साभार: @SangmaConrad

शिलांग: मेघालय में रविवार को लगी आग में एक 95 साल पुराना गिरजाघर जलकर खाक हो गया. इस दुर्घटना में दो लोगों की मौत हो गई. एक पुलिस अधिकारी ने कहा, "क्वालापाटी क्षेत्र में तबाह चर्च के बगल में रहने वाले एक दंपति की 'दम घुटने' के कारण मौत हो गई." 1924 में बने इस गिरजाघर में आग सुबह 3.30 बजे लगी, जिसके बाद प्रार्थना के लिए बनी लकड़ी की संरचना पूरी तरह से जलकर खाक हो गई. आग की लपटों में आकर गिरजाघर से सटे घर क्षतिग्रस्त हो गए. आग और आपातकालीन सेवा पुलिस अधीक्षक, (प्रभारी) जुबी जी मोमिन ने आईएएनएस से कहा, "हमें अभी तक आग लगने के कारणों का पता नहीं चल पाया है. जांच जारी है और हम हर पहलू की जांच कर रहे हैं."

मोमिन ने कहा, "चर्च के अंदर मरम्मत का कार्य चल रहा था, इसमें बिजली का कार्य भी शामिल था. ऐसा हो सकता है कि शॉर्ट सर्किट होने के कारण आग लगी हो." स्थानीय निवासियों का कहना है कि आग से गिरजाघर को बचाने के लिए उन्होंने पूरी कोशिश की. एक स्थानीय व्यक्ति ने कहा, "दमकलकर्मियों ने आग पर काबू पाने की पूरी कोशिश की. यह एक पुरानी संरचना थी, सड़कें बेहद संकीर्ण हैं, जिसके चलते दमकलकर्मी समय रहते मौके पर नहीं पहुंच सके."

गृह मंत्री जेम्स संगमा, पुलिस महानिदेशक आर. चंद्रनाथन और वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों ने स्थिति का जायजा लेने के लिए स्थल का दौरा किया. मुख्यमंत्री कॉनराड संगमा ने घटना को लेकर दुख प्रकट किया है.