close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

एक 'आम आदमी' के पास आया 4 रुपये का रिकवरी नोटिस, निकली 'सिस्टम' की गलती

महाराष्ट्र के चंद्रपुर के बाबूपेठ इलाके में रहने वाले उत्तम बनसोडे के होश उस वक्त उड़ गए जब उनको स्थानीय मनपा ने मैसेज भेजा कि आप पॉपर्टी टैक्स का बकाया 4 रुपये भर दीजिए नहीं तो आपकी प्रॉपर्टी अटैच कर ली जाएगी.

एक 'आम आदमी' के पास आया 4 रुपये का रिकवरी नोटिस, निकली 'सिस्टम' की गलती
नोटिस में लिखा है कि वह प्रॉपर्टी टैक्स के 4 रुपये चुका दे वरना उसकी प्रॉपर्टी अटैच कर ली जाएगी (प्रतीकात्मक तस्वीर, फोटो साभार: iStock)

नई दिल्ली: महाराष्ट्र के चंद्रपुर में एक शख्स के सामने अजब परेशानी आई है. अजब इसलिए क्योंकि उसे नगर पालिका का एक अनोखा ही नोटिस मिला है. नोटिस में लिखा है कि वह प्रॉपर्टी टैक्स के 4 रुपये चुका दे वरना उसकी प्रॉपर्टी अटैच कर ली जाएगी. जिस देश में उद्योगपति करोड़ों की ठगी कर, बैंकों को चपत लगाकर मौज कर रहे हों वहां सिर्फ 4 रुपये के लिए किसी आम आदमी को भेजे जाने वाला यह नोटिस महाराष्ट्र में सुर्खियां बटोर रहा है. जानकारी के मुताबिक चंद्रपुर के बाबूपेठ इलाके में रहने वाले उत्तम बनसोडे के होश उस वक्त उड़ गए जब उनको स्थानीय मनपा ने मैसेज भेजा कि आप पॉपर्टी टैक्स का बकाया 4 रुपये भर दीजिए नहीं तो आपकी प्रॉपर्टी अटैच कर ली जाएगी. मैसेज पढ़ने के बाद उत्तम को जैसे शॉक लग गया हो.

ये है मामला
आपको बता दें कि उत्तम बाबूपेठ में रहते हैं. उन्हें 502 रुपये का प्रॉपर्टी टैक्स का बिल आया था. जो कि उन्होंने जुलाई में ही भर दिया था. उस वक्त मनपा की तरफ से उन्हें 4 रुपये का डिस्काउंट मिला. लेकिन वही डिस्काउंट अब उनके गले की हड्डी बन गया है.

इस वजह से आया मैसेज
जानकारी के मुताबिक पिछले कई दिनों से उत्तम बनसोडे को मनपा से मैसेज आ रहा है कि बकाया भर दो नहीं तो कार्रवाई की जाएगी. बनसोडे ने मनपा कार्यालय में गुहार भी लगाई. जिसके दौरान उन्हें बताया गया कि यह सिस्टम का फेल्योर है. गलती सिस्टम की है. जिसके चलते यह मैसेज बार-बार आ रहा है. हालांकि बनसोडे को डर है कि कहीं सिस्टम की गलती से कोई उनकी प्रॉपर्टी अटैच ना कर ले.

हमेशा वक्त पर जमा करते रहे हैं टैक्स
बनसोडे ने जी मीडिया को बताया कि उन्होंने हमेशा पानी और प्रॉपर्टी टैक्स का भुगतान वक्त पर किया है. कई बार तो एडवांस में भी भुगतान किया गया है. इसके बावजूद बार-बार ऐसे मैसेज भेजना कहां का इंसाफ है. और वह भी उसके लिए जो डिस्काउंट बताया गया था. अब उसी चार रुपये को बकाया दिखा कर उसके लिए प्रॉपर्टी अटैच करने की धमकी दी जा रही है.

मेयर ने बताया सिस्टम का दोष
मामला चंद्रपुर के मेयर अंजली घोटेकर के पास पहुंचा तो उन्होंने भी इसे सिस्टम का दोष बताया और भरोसा जताया कि बनसोडे को कोई टेंशन लेने की जरूरत नहीं है. उन्होंने बनसोडे को हुई तकलीफ के लिए माफी भी मांगी है. मेयर ने यही भी कहा कि सिस्टम के इंजीनियर को बुलाया जाएगा और उससे ऐसी गलती फिर से ना करने के लिए कहा जाएगा.