close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

AIRPORT: खत्‍म होगा एटीसी के चलते विमानों के विलंब होने का सि‍लसिला, AAI ने उठाया यह बड़ा कदम

देश में पहली बार रडार की मेनटिनेंस के लिए स्‍पेशल मेंटिनेंस यूनिट की स्‍थापना की है, जिसका उद्घाटन मंगलवार को एएआई के चेयरमैन डॉ. गुरुप्रसाद महापात्रा और चेक रिपब्लिक के एंबेसडर मिलन होर्वोका ने किया है. 

AIRPORT: खत्‍म होगा एटीसी के चलते विमानों के विलंब होने का सि‍लसिला, AAI ने उठाया यह बड़ा कदम
मौजूदा समय में करीब 80 फीसदी इंडियन एयर स्‍पेस राडार की जद में आता है. (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली: एयर ट्रैफिक कंट्रोल के चलते विमानों के विलंब होने का‍ सिलसिला जल्‍द खत्‍म होगा. एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एएआई) ने विमानों के समय पर परिचालन के लिए बड़ा कदम उठाया है. इस कदम के तहत, देश में पहली बार रडार की मेनटिनेंस के लिए स्‍पेशल मेंटिनेंस यूनिट की स्‍थापना की है, जिसका उद्घाटन मंगलवार को एएआई के चेयरमैन डॉ. गुरुप्रसाद महापात्रा और चेक रिपब्लिक के एंबेसडर मिलन होर्वोका ने किया है. 

विमानन क्षेत्र से जुड़े वरिष्‍ठ अधिकारी के अनुसार, बीते मई के महीने में करीब सात फीसदी फ्लाइट की देरी से परिचालन की वजह एयर ट्रैफिक कंट्रोल था. एटीसी के चलते विमानों के परिचालन में होने वाले विलंब में खराब हो चुके रडार सिस्‍टम बड़ी भूमिका अदा करते हैं. अब इन रडार सिस्‍टम को दुरुस्‍त करने के लिए एएआई ने देश में पहली बार स्‍पेशलाइज्‍ड मेनटीनेंस यूनिट स्‍थापित किया है. इस यूनिट में रडार की मरम्‍मत के साथ उनके मेनटीनेंस का काम भी किया जाएगा. 

यह भी पढ़ें: हवाई अड्डों पर खुलेंगे सस्ते फूडकोर्ट, कम दामों में मिलेंगी खाने-पीने की चीजें

यह भी पढ़ें: हिंडन एयरपोर्ट पर जून अंत तक शुरू हो सकती हैं व्यावसायिक उड़ानें

एएआई के वरिष्‍ठ अधिकारी के अनुसार, इस स्‍पेशलाइज्‍ड मेनटीनेंस यूनिट को मेसर्स एल्‍डिस (ELDIS) की मदद से तैयार किया गया है. ELDIS ने इस यूनिट के लिए न केवल हार्डवेयर और साफ्टवेयर टूल उपब्‍ध कराए हैं, बल्कि इंजीनियर्स को प्रशिक्षित भी किया है. उन्‍होंने बताया कि इस यूनिट की मदद से खराब पड़े रडार को दुरुस्‍त कर विमानों के टर्न अराउंड टाइम को कम करने में मदद मिलेगी. उल्‍लेखनीय है कि मौजूदा समय में  करीब 80 फीसदी इंडियन एयर स्‍पेस रडार की जद में आता है. 

उन्‍होंने बताया कि  ELDIS और एएआई द्वारा स्‍थापित किए गए इस स्‍पेशलाइज्‍ड मेनटीनेंस यूनिट के जरिए न केवल देश में मौजूद रडार सिस्‍टम को बेहतर बनाया जा सकेगा, बल्कि यह सुविधा एशिया पेसिफिक रीजन में आने वाले एयरपोर्ट को भी इस यूनिट की मदद उपलब्‍ध कराई जा कसेगी. उन्‍होंने बताया कि इस यूनिट को स्‍थापित करने में कुल 30 करोड़ रुपए की लागत आई है.