महाराष्‍ट्र और राजस्‍थान के इन 5 एयरपोर्ट के कायाकल्‍प में खर्च होंगे 25000 करोड़ रुपए

केंद्रीय नागर विमानन राज्‍यमंत्री हरदीप सिंह पुरी ने लोकसभा में एक सवाल के जवाब में यह जानकारी दी है. 

महाराष्‍ट्र और राजस्‍थान के इन 5 एयरपोर्ट के कायाकल्‍प में खर्च होंगे 25000 करोड़ रुपए
एयरपोर्ट एथॉरिटी ऑफ इंडिया ने एयरपेार्ट के आधुनिकीकरण के लिए बनाई है योजना (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली: हवाई यातायात में लगातार हो रही वृद्धि को देखते हुए केंद्रीय विमानन मंत्रालय ने महाराष्‍ट्र और राजस्‍थान के पांच एयरपोर्ट का विस्‍तार और आधुनिकीकरण करने जा रही है. जिन एयरपोर्ट का विस्‍तार और आधुनिकीकरण किया जाना है, उसमें राजस्‍थान के तीन और महाराष्‍ट्र के दो एयरपोर्ट शामिल है. यह जानकारी आज लोकसभा में केंद्रीय नागर विमानन राज्‍यमंत्री हरदीप सिंह पुरी ने दी है. 

दरअसल, सोमवार को सांसद सीपी जोशी ने लिखिल सवाल में पूछा था कि क्‍या हाल के वर्षों में भारतीय एयरपोर्ट पर वायु यातायात में भारी वृद्धि देखी गई है? यदि हां, तो विशेषकर महाराष्‍ट्र और राजस्‍थान के एयरपोर्ट के इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर को मजबूत करने के लिए सरकार द्वारा क्‍या कदम उठाए हैं? इस सवाल के लिखित जवाब में केंद्रीय नागर विमानन मंत्री ने बताया है कि यातायात में बढ़ोत्‍तरी के चलते मौजूदा एयरपोर्ट के बुनियादी ढांचे पर दबाब आया है. 

उन्‍होंने बताया कि बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए भारतीय विमानपत्‍तन प्राधिकरण (एएआई) के साथ-साथ एयरपोर्ट ऑपरेटर समय-समय पर एयरलाइंस की इच्‍छा के आधार पर एयरपोर्ट का अन्‍नयन और आधुनिकीकरण करते हैं. उन्‍होंने बताया कि एएआई ने राजस्‍थान में जयपुर, जोधपुर और उदयपुर, महाराष्‍ट्र में कोल्‍हापुर और पुणे सहित देशभर के एयरपोर्ट के बुनियादी ढांचे को विकास के लिए 25000 करोड़ रुपए की पूंजी व्‍यय करने की योजना बनाई है. 

उन्‍होंने बताया कि यह पूंजी अगले पांच वर्षों में एयरपोर्ट के आधुनिकीकरण में खर्च की जाएगी. उन्‍होंने अपने जवाब में यह भी बताया कि 2018-19 में हवाई यात्रियों की संख्‍या में करीब 11.6 फीसदी की वृद्धि हुई है. जबकि, 2016-17 में यह वृद्धि 18.3 फीसदी और 2017-18 में यह वृद्धि करीब 16.5 फीसदी थी.