कांग्रेस के भारत बंद में नहीं शामिल होगी आम आदमी पार्टी

आप प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा कि कांग्रेस को ईंधन मूल्य वृद्धि और भारतीय रुपए में गिरावट के मुद्दे पर कोई नैतिक अधिकार नहीं है.

कांग्रेस के भारत बंद में नहीं शामिल होगी आम आदमी पार्टी
आम आदमी पार्टी के विधायक और मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) ने रविवार को स्पष्ट किया कि वह कांग्रेस द्वारा आहूत सोमवार के भारत बंद में शामिल नहीं होगी. यह बंद तेल कीमतों में भारी वृद्धि और रुपये में लगातार हो रही गिरावट के खिलाफ आयोजित किया गया है. आप के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने आईएएनएस से कहा, "यद्यपि मुद्दा सही है, लेकिन कांग्रेस को ईंधन मूल्य वृद्धि और भारतीय रुपये में गिरावट के मुद्दे पर कोई नैतिक अधिकार नहीं है. इस बात को हजम कर पाना कठिन है कि कांग्रेस भारत बंद का आह्वान कर रही है."

भारद्वाज ने मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि वह कांग्रेस की नीतियों को आगे बढ़ा रही है. उन्होंने कहा, "मोदी सरकार पेट्रोल और डीजल कीमतों में अभूतपूर्व वृद्धि और भारतीय रुपये में रिकॉर्ड गिरावट को रोकने में अपनी विफलता के जरिए नागरिकों पर जुर्म कर रही है." उन्होंने कहा कि मोदी सरकार मूल्य वृद्धि रोकने में पूरी तरह विफल रही है. भारद्वाज ने कहा, "या तो इस सरकार को देश की आर्थिक हालात की समझ नहीं है या यह जानबूझकर आम आदमी की कीमत पर अपने खजाने भर रही है."

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी के विरोध में कांग्रेस का 'भारत बंद' आज

ओडिशा में सत्ताधारी बीजू जनता दल (बीजद) ने भी कहा कि वह ईंधन कीमतों में वृद्धि के खिलाफ कांग्रेस की तरफ से सोमवार को आहूत भारत बंद का समर्थन नहीं करेगा. पार्टी ने हालांकि कहा कि वह ईंधन कीमतों में वृद्धि के खिलाफ है. बीजद प्रवक्ता सस्मित पात्रा ने कहा, "हम पेट्रोलियम उत्पादों की मूल्य वृद्धि में भारी वृद्धि के बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए पिछले तीन दिनों से पूरे राज्य में विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं."

सरकार ने हालांकि घोषणा की है कि विद्यार्थियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए स्कूल सोमवार को बंद रहेंगे. इस बीच ओडिशा प्रदेश कांग्रेस कमेटी (पीसीसी) के अध्यक्ष निरंजन पटनायक ने बंद को सफल बनाने के लिए लोगों से आग्रह किया. उन्होंने कहा कि पार्टी के विधायक सोमवार को विधानसभा की बैठक में शामिल नहीं होंगे, क्योंकि वे बंद में शामिल होंगे.

(इनपुट-आईएएनएस)