J&K: डीएसपी के आतंकी कनेक्शन पर कांग्रेस नेता का विवादित ट्वीट, निकाला धार्मिक एंगल

2 जनवरी को जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में तफतीश के दौरान एक गाड़ी से हिज्बुल मुजाहिदीन के 2 आतंकियों को गिरफ्तार किया था. आतंकियों के साथ कार में जम्मू-कश्मीर पुलिस का एक डीएसपी भी मौजूद था, सिक्योरिटी फोर्स ने उसे भी गिरफ्तार कर लिया.

J&K: डीएसपी के आतंकी कनेक्शन पर कांग्रेस नेता का विवादित ट्वीट, निकाला धार्मिक एंगल
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर के कुलगाम में आतंकियों की मदद करने के आरोप में डीएसपी देविंदर सिंह की गिरफ्तारी को लेकर कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने विवादित बयान दिया है. लोकसभा में कांग्रेस नेता ने कहा है कि अगर देविंदर सिहं की जगह इस डीएसपी का नाम देविंदर खान होता तो राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) के ट्रोलर्स की प्रतिक्रिया स्पष्ट और मुखर होती. कांग्रेस नेता ने कहा कि देश के दुश्मनों को हम किसी भी रंग, पंथ और धर्म में विभाजित नहीं कर सकते हैं.

कांग्रेस नेता ने अपने अगले ट्वीट में लिखा 'कश्मीर घाटी में जो मामला सामने आया है, वो हमारे लिए बड़ी चिंता का विषय है. ऐसी घटनाओं को कतई स्वीकार नहीं किया जा सकता है.'

बीजेपी नेता संबित पात्रा ने कहा, 'आतंक पर धर्म की राजनीति करना कांग्रेस की आदत रही है. कांग्रेस रोज पाकिस्तान को ऑक्सीजन देने का काम कर रही है. बाटला हाउस एनकाउंटर के बाद सोनिया गांधी ने कहा था कि मैं सो नहीं पाई थी. मैं राहुल गांधी से पूछना चाहता हूं कि अगर आपको जरा भी संशय है पुलवामा हमले पर तो सामने आकर बताएं. आप हमेशा पाकिस्तान को क्लीनचिट देने में क्यों लगे रहते हैं.'

बता दें कि 12 जनवरी को जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में तफतीश के दौरान एक गाड़ी से हिज्बुल मुजाहिदीन के 2 आतंकियों को गिरफ्तार किया था. इस दौरान चौंकाने वाली बात सामने आई है कि पकड़े गए आतंकियों के साथ कार में जम्मू-कश्मीर पुलिस का एक डीएसपी भी मौजूद था, सिक्योरिटी फोर्स ने उसे भी गिरफ्तार कर लिया.

पकड़े गए आतंकियों में सैयद नवीद मुश्ताक उर्फ नवीद बाबू भी है, जिसका नंबर आतंकी सरग़ना रियाज नाइकू के बाद आता है. दहशतगर्दों के साथ पकड़े गए डीएसपी की शनाख्त देविंदर सिंह के तौर पर हुई थी, जो एयरपोर्ट सिक्योरिटी में तैनात था. अफसरों ने बताया कि डीएसपी आतंकियों को कश्मीर घाटी से बाहर निकालने में मदद कर रहा था.

इससे ज्यादा चौंकाने वाली बात यह है कि देवेंद्र ने पिछले साल ही स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्रपति पुलिस पदक हासिल किया था. सिंह एक पुलिस सब-इंस्पेक्टर के रूप में भर्ती हुआ था, बढ़ते बढ़ते वह डीएसपी रैंक के अधिकारी बना था.