आदित्य ठाकरे ने सोनिया गांधी के नाम पर ली शपथ, ये बालासाहेब की शिवसेना नहीं: BJP

महाराष्ट्र के बांद्रा पश्चिम से विधायक आशीष शेलार ने कहा कि आदित्य ठाकरे ने सोनिया गांधी के नाम पर शपथ ली है, ये बालासाहेब की शिवसेना नहीं है.

आदित्य ठाकरे ने सोनिया गांधी के नाम पर ली शपथ, ये बालासाहेब की शिवसेना नहीं: BJP
बीजेपी विधायक आशीष शेलार ने शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के शक्ति प्रदर्शन पर उठाया सवाल.

मुंबई: शिवसेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी और कांग्रेस की ओर से मुंबई के होटल ग्रैंड हयात में किए गए 162 विधायकों के शक्ति प्रदर्शन पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने पलटवार किया है. बीजेपी के विधायक आशीष शेलार ने कहा कि पहचान परेड आरोपी व्यक्तियों के मामले में की जाती है, निर्वाचित विधायकों के मामले में नहीं. यह विधायकों और उन लोगों का अपमान है, जिन्होंने उन्हें चुना है. शेलार ने विधायकों की 162 होने की संख्या पर भी सवाल उठाया. उन्होंने कहा कि मैं तो कहता हूं कि होटल में बहुमत का आंकड़ा 145 विधायक भी नहीं थे, क्योंकि किसी ने एक-एक विधायक की गिनती नहीं की है. महाराष्ट्र के बांद्रा पश्चिम से विधायक आशीष शेलार ने कहा कि आदित्य ठाकरे ने सोनिया गांधी के नाम पर शपथ ली है, ये बालासाहेब की शिवसेना नहीं है.

शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस के 162 विधायकों ने की सार्वजनिक परेड
भारतीय राजनीति और महाराष्ट्र के इतिहास में सोमवार को एक अभूतपूर्व अध्याय जुड़ता देखा गया. संख्या बल दिखाने के लिए अब तक राज्यपाल के सामने विधायकों की परेड होती रही है, लेकिन यहां शिवसेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) और कांग्रेस ने संयुक्त रूप से सोमवार को अपने 162 विधायकों की सार्वजनिक परेड आयोजित की. ऐसा भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) व उसके सहयोगी एनसीपी के अजित पवार गुट के 170 विधायकों का संख्या बल होने के दावे को 'झूठा' साबित करने के लिए किया गया. यह परेड सुप्रीम कोर्ट में मंगलवार की सुबह इन पार्टियों की याचिका पर सुनवाई से महज 12 घंटे पहले की गई.

सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका में शनिवार की सुबह आठ बजे बिना पूर्व सूचना के देवेंद्र फडणवीस को मुख्यमंत्री व अजित पवार को उपमुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाए जाने को चुनौती दी गई है. फडणवीस व पवार के शपथ ग्रहण के बाद से राज्य में राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो गई हैं.

162 विधायकों की परेड के दौरान 'महा विकास अगाडी' में शामिल शिवसेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) और कांग्रेस के प्रमुख नेता शरद पवार, सुप्रिया सुले, संजय राउत, अशोक चव्हाण, नवाब मलिक, जितेंद्र अहवद, आदित्य ठाकरे और अन्य मौजूद रहे.

नवगठित सरकार के बहुमत के दावे के खिलाफ एकजुटता दिखाने के लिए परेड के बाद संयुक्त फोटो-सेशन भी हुआ. इससे एक दिन पहले तीनों पार्टियों के नवनिर्वाचित विधायकों का परस्पर परिचय कराया गया था.

ये भी देखें-: