मोदी के अमेरिकी दौरे ने भारत की क्षमता दिखाई : तुलसी गबार्ड

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ऐतिहासिक अमेरिकी दौरे के बाद अमेरिका ने माना कि दोनों देशों के बीच गठबंधन के लिए भारत में काफी क्षमता है। यह बात शनिवार को यहां अमेरिकी कांग्रेस की सदस्य तुलसी गबार्ड ने कही।

मोदी के अमेरिकी दौरे ने भारत की क्षमता दिखाई : तुलसी गबार्ड

पणजी : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ऐतिहासिक अमेरिकी दौरे के बाद अमेरिका ने माना कि दोनों देशों के बीच गठबंधन के लिए भारत में काफी क्षमता है। यह बात शनिवार को यहां अमेरिकी कांग्रेस की सदस्य तुलसी गबार्ड ने कही।

गबार्ड ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी उच्च ऊर्जा एवं भारत के लिए अपने महान दृष्टिकोण की वजह से अपनी यात्रा के दौरान अमेरिकी नेताओं को दिखाया कि वह भारत और इसके लोगों के महान भविष्य के निर्माण की खातिर काफी गंभीर हैं।’ उन्होंने कहा कि (अमेरिकी) सरकार, व्यवसाय एवं अन्य कई सेक्टरों में इस महान क्षमता और इसे पाने के लिए उनकी (मोदी) योजनाओं को मान्यता दी गई।

गबार्ड ने कहा, ‘वे यहां साझा क्षेत्रों में काम करने का अवसर देख रहे हैं जहां हमारे साझा हित हैं।’ उन्होंने कहा, ‘मैंने अमेरिका में उद्योगपतियों से मुलाकात की जो भारत में निवेश के लिए काफी उत्साहित थे, इस देश (भारत) के साथ काम करना चाहते थे और भारत में भी उद्योगपतियों से मुलाकात की जो ऐसी रुचि दिखा रहे हैं।’

उन्होंने कहा, ‘अब आपके पास दो लोगों का समूह है जिनके साझा उद्देश्य हैं और मेरा मानना है कि दोनों देशों के बीच सहयोग, गठबंधन के लिए काफी संभावनाएं हैं।’ इस हफ्ते की शुरुआत में मोदी से मुलाकात करने वाली गबार्ड ने कहा कि बैठक के बाद वह काफी ‘उत्साहित’ महसूस कर रही हैं।

उन्होंने कहा, ‘इस सिलसिले में उनकी प्रगति के बारे में जानकर बैठक में मैं काफी उत्साहित हुयीं।’ अमेरिकी प्रतिनिधि ‘स्वच्छ भारत’ अभियान से भी काफी उत्साहित हुईं। गबार्ड ने कहा, ‘यहां आने से पहले मुझे स्वच्छ भारत अभियान के बारे में पता था। मेरा मानना है कि यह महान विचार है। मैंने इस कार्यक्रम के बारे में प्रधानमंत्री से बात की और यहां मेरे दौरे के पहले कुछ दिनों में मैंने सांसदों, अमेरिकी दूतावास और कई लोगों से सुना कि इतने कम समय में इस कार्यक्रम ने कितनी प्रगति की है।’

गबार्ड ने पिछले हफ्ते दिल्ली के जोर बाग इलाके में एक सरकारी स्कूल के दौरे में छात्रों के साथ परिसर के सफाई अभियान में शिरकत की थी। गबार्ड ने कहा, ‘मैंने उनसे पूछा कि वे बताएं कि ‘स्वच्छ भारत’ अभियान में किस तरह से शिरकत कर रहे हैं ,वे काफी उत्साहित थे। मैंने कहा कि हममें से हर कोई चाहे वह विद्यार्थी हो, शिक्षक हो, नेता, व्यवसायी, चिकित्सक हो हर किसी की जिम्मेदारी है कि अपने घर, समुदाय, गली और पार्क की देखभाल करें।’