'व्हाइटनर' के नशे में डूब रहे लड़के-लड़कियां, माता-पिता भी अनजान

20 से 30 रुपए में नशाखोर व्हाइटनर खरीदते हैं और नाक से उसे सूंघते हैं.

'व्हाइटनर' के नशे में डूब रहे लड़के-लड़कियां, माता-पिता भी अनजान
15 से लेकर 30 बरस के लड़के-लड़कियां व्हाइटनर का नशा करती हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

अहमदाबाद: गुजरात के अहमदाबाद शहर में गांजा चरस और उसके बाद अब नए नशे ने दस्तक दी है. खासकर आज के लड़के-लड़कियां इस नशे की चंगुल में फंस गए हैं और नए-नए तरकीब आजमा रहे हैं. इस नशे का नाम है- 'व्हाइटनर'. कुछ दिनों पहले अहमदाबाद शहर के बापू नगर विस्तार में पुलिस ने एक स्टेशनरी मालिक को गिरफ्तार किया था. पुलिस का आरोप था कि यह बच्चों को व्हाइटनर बेचता है.

ZEE न्यूज़ ने अहमदाबाद शहर के कोट और पूछ इलाके में एक रियलिटी चेक किया था, जिसमें सामने आया था कि टीनएजर्स लड़कों से लेकर लड़कियां भी ड्रग्स के चंगुल में फंस गई हैं. ज़ी न्यूज़ के रियलिटी चेक के बाद अहमदाबाद शहर क्राइम ब्रांच ने शहर के लगभग सभी ड्रक्स डीलरों को ट्रक के साथ गिरफ्तार कर लिया था फिर कुछ महीनों के बाद ज़ी न्यूज़ के द्वारा व्हाइटनर को लेकर अहमदाबाद शहर में एक रियलिटी चेक किया गया था.

इसमें यह सामने आया है कि 15 वर्ष से लेकर 30 बरस के लड़के-लड़कियां व्हाइटनर का नशा करती हैं. व्हाइटनर की बोतल नशा करने वालों के लिए एक आसानी से मिलने वाले नशे का सामान बन चुका है. सिर्फ 20 से ₹30 में बिकने वाली ये बोतल स्कूल और कॉलेज के नजदीक स्टेशनरी की दुकान से आसानी से मिल जाती है.

रियलिटी चेक में यह सामने आया है कि 20 से ₹30 में नशाखोर व्हाइटनर खरीदते हैं और नाक से उसे सूंघते हैं. आप के टीवी स्क्रीन पर दिख रहे ये नाबालिक लड़के व्हाइटनर का नशा करते हैं. सबसे पहले तो व्हाइटनर को सफेद कपड़े में निकाल कर नाक से और मुंह से सूंघते हैं जिससे इन्हें नशा होता है.  

चौंकाने वाली बात यह है कि व्हाइटनर के इस नशे में टीनएजर्स और लड़कियां भी शामिल हैं. इसके अलावा यह भी सामने आया है कि कुछ लड़कियां तो वर्षों से इस नशे की आदि है और फिलहाल भी यह व्हाइटनर का नशा कर रही हैं. पर कैमरे के सामने बोलने से डर रही है. अहमदाबाद शहर की स्कूल से लेकर कॉलेज और यूट्यूब में भी व्हाइटनर का नशा फल फूल रहा है जिसे इन लड़के लड़कियों के माता-पिता भी अनजान हैं.