AIIMS की यह कैसी 'रामलीला', VIDEO देख भड़के लोग; स्टूडेंट्स ने मांगी माफी
X

AIIMS की यह कैसी 'रामलीला', VIDEO देख भड़के लोग; स्टूडेंट्स ने मांगी माफी

AIIMS स्टूडेंट एसोसिएशन ने विवादित रामलीला मंचन पर ट्वीट करते हुए माफी मांग ली है. एक स्टूडेंट ने वीडियो जारी करते हुए बताया कि ये कार्यक्रम बचकाने में किया गया था. हमारी किसी की धार्मिक भावना को आहत करने की कोई मंशा नहीं थी.

AIIMS की यह कैसी 'रामलीला', VIDEO देख भड़के लोग; स्टूडेंट्स ने मांगी माफी

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS Delhi) में कुछ स्टूडेंट्स ने रामलीला का आयोजन किया था, जिसमें भगवान राम और माता सीता पर गलत टिप्पणी की गई थी. जब इस कार्यक्रम का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो लोगों ने इसकी कड़ी निंदा की, और कार्रवाई की मांग की. जिसे देखते हुए रविवार को एम्स छात्र संघ ने सामने आकर अपनी गलती मानी और जाने-अनजाने में धार्मिक भावनाओं को आहत करने पर सभी से माफी मांगी.

छात्र संघ ने ट्वीट कर कही ये बात

छात्र संघ ने ट्वीट करते हुए कहा, 'एम्स के कुछ छात्रों द्वारा की गई रामलीला मंचन की एक वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. छात्रों की ओर से, हम इस मंचन के लिए क्षमा चाहते हैं, इसका उद्देश्य किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाना नहीं था. हम यह सुनिश्चित करेंगे कि भविष्य में ऐसी कोई गतिविधि न हो.

MBBS स्टूडेंट्स ने किया था नाटक

एक अधिकारी ने कहा कि इस मामले को संज्ञान में लेते हुए एम्स प्रशासन ने स्टूडेंट्स के साथ चर्चा की. उन्होंने कहा, ‘इस मुद्दे की संवेदनशीलता को समझते हुए स्टूडेंट्स ने एक ट्वीट जारी कर माफी मांगी है. उन्होंने आश्वासन दिया है कि इस तरह की घटना की दोबारा नहीं होगी.’ अधिकारी ने आगे कहा कि मंचन किसी आधिकारिक गतिविधि या कार्यक्रम का हिस्सा नहीं था और MBBS फर्स्ट ईयर के स्टूडेंट्स ने इसे आयोजित किया था.

बचकानापन में हुआ था रामलीला मंचन

मंचन का हिस्सा रहे प्रथम वर्ष के छात्र ने माफी मांगने के लिए एक वीडियो डाला और कहा कि उन्होंने इसे बचकानापन में आयोजित किया था और जब उन्होंने बाद में वीडियो देखा, तो उन्हें खुद शर्म आई. उन्होंने कहा, ‘मैं और हम सभी माफी मांगना चाहते हैं और आश्वस्त करना चाहते हैं कि ऐसा फिर कभी नहीं होगा.’ उन्होंने वीडियो में कहा, ‘हम यहां सभी हिंदू त्योहारों को भव्य तरीके से मनाते हैं. इसलिए यह सच नहीं है कि हम हिंदुओं के खिलाफ हैं. हम अपने सभी देवी-देवताओं का सम्मान करते हैं.’

(इनपुट: एजेंसी भाषा के साथ)

Trending news