ओवैसी ने इमरान खान को दिखाया आईना, कहा- हिंदुस्तान के मुसलमानों की फिक्र छोड़ें, अपना देश संभालें

एआईएमआईएम (AIMIM) प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने पाकिस्तानी पीएम को आड़े होथों लेते हुए कहा कि आप हिंदुस्तान के मुसलमानों की फिक्र छोड़े दें, अपना देश संभालें. 

ओवैसी ने इमरान खान को दिखाया आईना, कहा- हिंदुस्तान के मुसलमानों की फिक्र छोड़ें, अपना देश संभालें
फाइल फोटो

नई दिल्ली: भारत विरोध में अंधे हुए पाकिस्तान (Pakistan) के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) को अब असदुद्दीन ओवैसी ने आईना दिखाया है. इमरान खान ने शुक्रवार एक फर्जी वीडियो पोस्ट करते हुए उसे उत्तर प्रदेश में मुस्लिम समुदाय के साथ पुलिस की कथित ज्यादती करार दिया था. इसपर एआईएमआईएम (AIMIM) प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने पाकिस्तानी पीएम को आड़े होथों लेते हुए कहा कि आप हिंदुस्तान के मुसलमानों की फिक्र छोड़े दें, अपना देश संभालें. 

ओवौसी ने शनिवार को हैदराबाद में कहा, ''मैं पाकिस्तान के वजीरे आजम इमरान खान से कहना चाहता हूं कि आप हमारी फिक्र ना करें, हमारे लिए हमारा खुदा और हिंदुस्तान का संविधान है. आप अपने मुल्क की फिक्र करिए. सिक्खों पे जो हमला हुआ उसको देखिए. हमें फख्र है कि हम हिंदुस्तानी हैं.

ये भी पढ़ें: इमरान के फर्जी वीडियो पर UN में भारतीय राजदूत अकबरुद्दीन का तंज, 'मुश्किल से जाती हैं पुरानी आदतें'

बता दें कि शुक्रवार को इमरान खान ने भारत में नागरिकता संशोधन कानून विरोधी प्रदर्शनों के दौरान 'भारत में पुलिस हिंसा' का हवाला देते हुए तीन वीडियो ट्विटर पर पोस्ट किए. इन वीडियो के साथ उन्होंने लिखा, "मोदी सरकार के जातीय सफाए के तहत भारतीय पुलिस मुसलमानों पर हमला करते हुए." 

लेकिन, इमरान की सीनाजोरी तब पकड़ में आ गई जब पता चला कि उन्होंने जो वीडियो ट्वीट किया है, वह भारत का है ही नहीं. वीडियो बांग्लादेश का निकला. इमरान का पर्दाफाश उत्तर प्रदेश पुलिस ने किया. पुलिस ने ट्वीट कर बताया कि वीडियो उत्तर प्रदेश का नहीं है. यह मई 2013 में बांग्लादेश के ढाका की घटना का है. यूपी पुलिस ने इंडिया टुडे के एक फैक्ट चेक का लिंक भी दिया जिससे भी साफ हुआ कि वीडियो बांग्लादेश का है. वीडियो में लोग बांग्ला भाषा बोलते नजर आ रहे हैं.

वीडियो में इमरान ने पुलिस के जिन जवानों को उत्तर प्रदेश का बताया, उनकी वर्दी पर आरएबी लिखा हुआ है. आरएबी (रैपिड एक्शन बटैलियन) बांग्लादेश पुलिस की आतंकरोधी इकाई है.