लोकसभा उपचुनाव में कामयाबी के बाद मायावती से मिले अखिलेश, जीत की बधाई दी

पार्टी के अंदरूनी सूत्रों के मुताबिक अखिलेश ने मायावती को भी उपचुनाव में जीत की बधाई दी. साथ ही दोनों नेताओं ने भविष्य की सियासी तस्वीर और आगामी लोकसभा चुनाव में भाजपा का मुकाबला करने के लिये गठबंधन पर चर्चा की. 

लोकसभा उपचुनाव में कामयाबी के बाद मायावती से मिले अखिलेश, जीत की बधाई दी
अखिलेश ने मायावती को भी उपचुनाव में जीत की बधाई दी. साथ ही दोनों नेताओं ने भविष्य की सियासी तस्वीर और आगामी लोकसभा चुनाव में भाजपा का मुकाबला करने के लिये गठबंधन पर चर्चा की. (फाइल फोटो)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा चुनाव में जीत के बाद सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बसपा मुखिया मायावती के घर जाकर उनसे मुलाकात की. अखिलेश लखनऊ स्थित मायावती के आवास पर गए और वहां कुछ वक्त ठहरे. हालांकि इस मुलाकात के दौरान क्या बात हुई, इस बारे में तत्काल जानकारी नहीं मिली. 

दोनों नेताओं ने भविष्य की सियासी तस्वीर पर चर्चा की
पार्टी के अंदरूनी सूत्रों के मुताबिक अखिलेश ने मायावती को भी उपचुनाव में जीत की बधाई दी. साथ ही दोनों नेताओं ने भविष्य की सियासी तस्वीर और आगामी लोकसभा चुनाव में भाजपा का मुकाबला करने के लिये गठबंधन पर चर्चा की. इसके पूर्व, अखिलेश ने देर शाम एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में उपचुनाव परिणामों के लिए जनता को बधाई देते हुए कहा कि वह सबसे पहले बसपा नेता मायावती का बहुत-बहुत धन्यवाद देते हैं कि उन्होंने देश की महत्वपूर्ण लड़ाई में सपा का सहयोग और समर्थन किया.

उपचुनाव में मिली हार पर बोले योगी आदित्यनाथ, जनता ने अप्रत्याशित फैसला दिया

उन्होंने कहा कि उपचुनाव परिणाम केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार और राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार के खिलाफ ‘जनादेश‘ है. गोरखपुर मुख्यमंत्री योगी का क्षेत्र हैं जबकि फूलपुर उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य का क्षेत्र है. अगर उन क्षेत्रों की जनता में इतनी नाराजगी है तो सोचिए आने वाले चुनाव में क्या होगा.

उपचुनाव में सपा की शानदार कामयाबी
बता दें समाजवादी पार्टी ने गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा उपचुनाव में शानदार प्रदर्शन किया है. समाजवादी पार्टी के नगेंद्र प्रताप सिंह पटेल ने भाजपा के कौशलेंद्र सिंह पटेल को 59,460 वोट से हराकर फूलपुर लोकसभा उपचुनाव जीत लिया है. वहीं गोरखपुर उपचुनाव में समाजवादी पार्टी के प्रवीण कुमार निषाद जीते. गोरखपुर और फूलपुर उपचुनाव के लिये मतदान गत 11 मार्च को हुआ था. गोरखपुर सीट मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के और फूलपुर सीट उप मुख्यमंत्री केशव मौर्य के विधान परिषद की सदस्यता ग्रहण करने के बाद दिए गए त्यागपत्र के कारण खाली हुई हैं.

(इनपुट - भाषा)