सर्वदलीय बैठक में सभी विपक्षी दलों की मांग, फारूक अब्दुल्ला को मिले संसद सत्र में शामिल होने की अनुमति

इस बैठक में कांग्रेस से गुलाम नबी आजाद और अधीर रंजन चौधरी, टीएमसी से डेरेक ओ ब्रायन और सुदीप बंधोपाध्याय, बीएसपी से सतीश चंद्र मिश्रा, एलजेपी से चिराग पासवान, आप सांसद संजय सिंह भी मौजूद रहे.

सर्वदलीय बैठक में सभी विपक्षी दलों की मांग, फारूक अब्दुल्ला को मिले संसद सत्र में शामिल होने की अनुमति
फाइल फोटो

नई दिल्ली: संसद के शीतकालीन सत्र (Parliament Winter Session 2019) से पहले पार्लियामेंट की लाइब्रेरी बिल्डिंग में हुई सर्वदलीय बैठक में सभी दलों के प्रतिनिधियों ने सत्र के दौरान उठाए जाने वाले अहम मुद्दों पर अपनी अपनी राय रखी. संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी द्वारा बुलाई गई इस बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, संसदीय कार्यराज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल समेत कई दलों के नेता मौजूद रहे. इस बैठक में कांग्रेस से गुलाम नबी आजाद और अधीर रंजन चौधरी, टीएमसी से डेरेक ओ ब्रायन और सुदीप बंधोपाध्याय, बीएसपी से सतीश चंद्र मिश्रा, एलजेपी से चिराग पासवान, आप सांसद संजय सिंह भी मौजूद रहे.

इस दौरान ज्यादातर विपक्षी दलों ने जम्मू कश्मीर नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता और जम्मू कश्मीर के पूर्व सीएम फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) और पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम के संसद सत्र आने की मांग की. कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने फारूक अब्दुल्ला और पी चिदंबरम को संसद सत्र को अटेंड करने देने की मांग की. इस पर संसदीय कार्यमंत्री ने कहा कि फारूक अब्दुल्ला पर कोर्ट फैसला लेगा, सरकार नहीं.

गुलाम नबी आज़ाद ने कहा, 'हमने तीसरा मुद्दा ये रखा है कि फारूक अब्दुल्ला साहब को साढ़े 3 महीने से क्यों बंद रखा है. हमने मांग की है कि इस सत्र में फारूक अब्दुल्ला साहब को सदन में आने की इजाजत दी जाए. हमने पी चिदंबरम को भी संसद का सत्र अटेंड करने देने की मांग की है. क्योंकि ऐसा पहले होता रहा है.'

कांग्रेस नेता ने कहा, 'हमने बैठक में कहा है कि जो बातें मीटिंग में होती है, उसपर सदन में चर्चा नहीं होती है. हर बार प्रधानमंत्री जी द्वारा ये आश्वासन दिया जाता है.

यह भी पढे़ंः- शीतकालीन सत्र के लिए केंद्र सरकार का टारगेट, इन 27 अहम बिलों को कराना है पास

चाहे बेरोजगारी हो, किसानों का मुद्दा हो, महंगाई का मुद्दा हो या फिर कश्मीर का मुद्दा हो. हम इन मुद्दों पर चर्चा चाहते हैं. बिल हम जरूर पास करेंगे, लेकिन हमारी बात भी सुनी जाए. कोई भी बिल जल्दबाजी में पास नहीं किया जाए.'

टीएमसी ने की राज्यपाल की शिकायत
बैठक में TMC ने बैठक में पश्चिम बंगाल के राज्यपाल की शिकायत की. टीएमसी सांसद सुदीप बंदोपाध्याय ने गृह मंत्री अमित शाह से मांग की है कि वो जल्द गवर्नर को बुलाकर उन्हें समझाएं.

एलजेपी ने उठाया बेरोजगारी का मुद्दा
सर्वदलीय बैठक में एलजेपी के सांसद चिराग पासवान ने उठाया बेरोजगारी का मुद्दा. प्रधानमंत्री ने कहा कि इस मुद्दे पर संसद सत्र के दौरान चर्चा होनी चाहिए.

आप सांसद ने उठाया दिल्ली में प्रदूषण का मुद्दा
आम आदमी पार्टी सांसद संजय सिंह ने दिल्ली में प्रदूषण के मुद्दे को उठाया. संसद में दिल्ली के प्रदूषण पर चर्चा हो और उसका समाधान निकाला जाए

ये वीडियो भी देखें: