close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सिद्धू ने किया कैप्टन अमरिंदर पर पलटवार- कुछ लोग मुझे पार्टी से बाहर करवाना चाहते हैं

कांग्रेस नेता व पंजाब सरकार के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह पर पलटवार किया है.

सिद्धू ने किया कैप्टन अमरिंदर पर पलटवार- कुछ लोग मुझे पार्टी से बाहर करवाना चाहते हैं
सिद्धू ने कहा कि उन्हें पार्टी में "अलग-थलग" किया जा रहा है...

चंडीगढ़: कांग्रेस नेता व पंजाब सरकार के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह पर पलटवार किया है. सिद्धू ने आरोप लगाते हुए कहा कि पार्टी के बुरे प्रदर्शन के लिए उन्हें अनुचित तरीके से "अलग-थलग" किया जा रहा है और कुछ लोग उन्हें पार्टी से बाहर करवाना चाहते हैं. 

सिद्धू की यह प्रतिक्रिया मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के उस बयान के बाद आई है जिसमें उन्होंने कहा था, "मंत्री के रूप में सिद्धू के प्रदर्शन की समीक्षा की जाएगी क्योंकि वह अपना विभाग अच्छे से नहीं चला पा रहे हैं." सिंह ने सिद्धू पर निशाना साधते हुए कहा था, "उनके पास शहरी विकास मंत्रालय है और कांग्रेस शहरी क्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाई." उन्होंने यह भी कहा कि बेअदबी के मामले में सिद्धू की टिप्पणी से भटिंडा में पार्टी को नुकसान हुआ. उन्होंने कहा था, "चुनाव परिणामों के बाद वह इन सब मामलों को पार्टी हाईकमान के सामने उठाएंगे." 

 
उधर, सिद्धू ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि जब उन्होंने मंत्रालय संभाला तब 'दिशाहीन जहाज' था. उन्होंने कहा, "पिछले दो वर्षों में मेरे विभाग ने 6000 करोड़ का राजस्व हासिल किया है और सभी प्रोजेक्ट पर तेज गति से चल रहे हैं. अपनी ही पार्टी के लोगों पर निशाना साधते हुए सिद्धू ने कहा, "आठ या नौ लोग मुझे पार्टी से बाहर निकलवाना चाहते हैं लेकिन मैं उनके खिलाफ कभी कुछ नहीं बोला." 

अपने प्रदर्शन का बचाव करते हुए सिद्धू ने कहा, "मेरे विभाग के पास पांच पैसे भी नहीं है. विभाग के अधिकारियों को सैलरी देने के पैसे नहीं है. कोई विजन नहीं है, कोई जिम्मेदारी नहीं और इसकी फंक्शनिंग को लेकर कोई सवाल नहीं उठाया जा रहा." 

सिद्धू यहीं नहीं रुके. उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा, "मैं अपने विभाग के कार्य के बारे में जवाब दे रहा हूं क्योंकि मुझे अलग-थलग किया जा रहा है. मेरे विभाग के मेयर मुख्यमंत्री द्वारा नियुक्त किए जाते हैं और मैं उन पर सवाल नहीं कर सकता. आज हमारे पास फंड ज्यादा है. हम उसका इस्तेमाल सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट, अग्नि सेवाओं, पेयजल सुविधाओं के लिए कर सकते हैं." सिद्धू और कैप्टन अमरिंदर के बीच काफी अरसे से मनमुटाव चल रहा है. अमरिंदर ने हाल में सिद्दू की खुलकर आलोचना करते हुए कहा था सिद्धू की पाकिस्तान आर्मी चीफ से यारी और झप्पी को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

(इनपुट भाषा से)