पंजाब कांग्रेस में दो फाड़, कैप्टन अमरिंदर ने किया सिद्धू के खिलाफ उम्मीदवार उतारने का ऐलान
X

पंजाब कांग्रेस में दो फाड़, कैप्टन अमरिंदर ने किया सिद्धू के खिलाफ उम्मीदवार उतारने का ऐलान

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि सिद्धू न सिर्फ पंजाब बल्कि पूरे देश के लिए खतरा है. उन्होंने खुलासा करते हुए कहा कि तीन हफ्ते पहले ही वह मुख्यमंत्री की कुर्सी छोड़ना चाहते थे लेकिन कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी ने तब उन्हें ऐसा करने से मना करा दिया था.

पंजाब कांग्रेस में दो फाड़, कैप्टन अमरिंदर ने किया सिद्धू के खिलाफ उम्मीदवार उतारने का ऐलान

नई दिल्ली: पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपने बगावती सुर दिखा दिए हैं. कैप्टन ने ऐलान किया कि आगामी विधान सभा चुनाव में वह कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ अपना उम्मीदवार उतारेंगे. उन्होंने कहा कि सिद्धू को किसी भी हाल में मुख्यमंत्री नहीं बनने देंगे क्योंकि वह देश के लिए बड़ा खतरा है.

तीन हफ्ते पहले छोड़ना चाहते थे कुर्सी

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि सिद्धू न सिर्फ पंजाब बल्कि पूरे देश के लिए खतरा है. उन्होंने खुलासा करते हुए कहा कि तीन हफ्ते पहले ही वह मुख्यमंत्री की कुर्सी छोड़ना चाहते थे लेकिन कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी ने तब उन्हें ऐसा करने से मना करा दिया था. कैप्टन ने चरणजीत सिंह चन्नी की अगुवाई वाली सरकार में सिद्धू की दखल पर तंज करते हुए कहा कि वह सुपर सीएम बन गए हैं. साथ ही उन्होंने केसी वेणुगोपाल, अजय माकन और सुरजेवाला पर भी निशाना साधा है. 

चन्नी को बताया अनुभवहीन सीएम

अमरिंदर सिंह ने न सिर्फ सिद्धू बल्कि पंजाब के नवनियुक्त मुख्यमंत्री चरणजीत चन्नी को भी निशाने पर लिया. उन्होंने कहा कि चन्नी को गृह विभाग संभालने का कोई अनुभव नहीं है यह काफी चिंताजनक है क्योंकि पंजाब पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान के साथ 600 किमी की सीमा तय करता है. साथ ही पिछले कुछ साल से हालात गंभीर होते जा रहे हैं. 

साथ ही उन्होंने सिद्धू को ड्रामेबाज बताते हुए कहा कि राहुल-प्रियंका को अभी अनुभव नहीं है और सलाहकारों की ओर से उन्हें गुमराह किया जा रहा है. 

ये भी पढ़ें: सबसे बड़े धर्मांतरण रैकेट का भंड़ाफोड़, मौलाना अरेस्‍ट; विदेशी फंडिंग के आरोप

अपनी ताकत जाहिर करते हुए कैप्टन ने कहा कि मैं एक सिपाही हूं और मुझे पता है कि कैसे काम करना है. उन्होंने कहा कि वह सात बार विधान सभा और दो बार संसद पहुंच चुके हैं, ऐसे में कुछ तो अच्छाई होगी. आलाकमान के फैसले पर सवाल करते हुए अमरिंदर ने कहा कि हमारे धर्म में सभी को बराबरी की नजर से देखा जाता है और किसी की जाति देखकर उसके बारे में फैसला नहीं करना चाहिए बल्कि काबिलियत देखनी चाहिए. उनका इशारा पंजाब के पहले सीएम चरणजीत चन्नी की तरफ था. 

Trending news