अमरनाथ यात्रा: CRPF का स्‍पेशल बाइक स्‍क्‍वाड, हेलमेट में लगे कैमरे से होगी निगाहबानी

स्‍पेशल बाइक स्‍क्‍वायड की हर बाइक में CRPF के दो कमांडोज को अत्‍याधुनिक हथियारों और क्‍युनिकेशन इक्‍यूपमेंट के साथ तैनात किया गया है.

अमरनाथ यात्रा: CRPF का स्‍पेशल बाइक स्‍क्‍वाड, हेलमेट में लगे कैमरे से होगी निगाहबानी
स्‍पेशल बाइक स्‍क्‍वायड के वाहनों का इस्‍तेमाल एम्‍बुलेंस के तौर पर भी किया जा सकेगा.

नई दिल्‍ली:  अमरनाथ यात्रा के लिए निर्धारित रूट पर गश्‍त और श्रद्धालुओं के काफिले को एस्‍कार्ट करने के लिए CRPF ने स्‍पेशल बाइक स्‍क्‍वायड तैयार किया है. स्‍पेशल बाइक स्‍क्‍वायड की हर बाइक में CRPF के दो कमांडोज को अत्‍याधुनिक हथियारों और क्‍युनिकेशन इक्‍यूपमेंट के साथ तैनात किया गया है. 

इस स्‍क्‍वायड के राइडर को उलपब्‍ध कराए गए हेलमेट भी खास तौर पर तैयार किया गया है. दरअसल, इस हेलमेट में एक खास कैमरा लगाया गया है. इस कैमरे को हाई फ्रीक्‍वेंसी लाइन के जरिए CRPF के कंट्रोल रूम से जोड़ा गया है. इस कैमरे की मदद से CRPF कंट्रोल रूम में बैठे जवान 400 किमी के दायरे में होने वाली सभी गतिविधियों को लाइव देख सकेंगे.

यह भी पढ़ें: श्रद्धालुओं की सुरक्षा में तैनात किया गया खास पहरेदार, आतंकी साजिशों को करेगा नाकाम

इन्‍हीं कैमरों से मिली फीड की मदद से जरूरत पड़ने पर CRPF कंट्रोल रूम रिइर्फोसमेंट सहित अन्‍य सुविधाएं मौके पर उपलब्‍ध करा सकेगा. सीआरपीएफ के वरिष्‍ठ अधिकारी के अनुसार, स्‍पेशल बाइक स्‍क्‍वायड को निर्धारित दूरी पर तैनात किया गया है. इनकी पहली जिम्‍मेदारी अमरनाथ यात्रा में जाने वाले यात्रियों के काफिले को एस्‍कार्ट करते हुए अगले प्‍वाइंट तक पहुंचाना है.

सीआरपीएफ के वरिष्‍ठ अधिकारी के अनुसार, जैसे ही काफिला अगले प्‍वाइंट पर पहुंचेगा, वहां पर स्‍पेशल बाइक स्‍क्‍वायड का दूसरा ग्रुप मौजूद होगा. दूसरा ग्रुप अमरनाथ यात्रियों के काफिले को एस्‍कार्ट कर अगले गंतव्‍य तक पहुंचाएगा. स्‍पेशल बाइक स्‍क्‍वायड की दूसरी भूमिका अमरनाथ यात्रा मार्ग पर गश्‍त की होगी. 

amarnath yatra crpf team
भगवती बेस कैंप में अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा की समीक्षा के बाद CRPF के आईजी अभयर वीर चौहान ने स्‍पेशल बाइक स्‍क्‍वायड को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया.

उन्‍होंने बताया कि अमरनाथ यात्रियों का पहला ग्रुप जब तक निर्धारित प्‍वाइंट पर पहुंचेगा, तब तक दूसरे प्‍वाइंट पर तैनात स्‍पेशल बाइक स्‍क्‍वायड अपने दायरे में आने वाले मार्ग पर लगातार गश्‍त करता रहेगा. वहीं, अमरनाथ यात्रा के काफिले को दूसरे ग्रुप के सुपुर्द करने के बाद पहला ग्रुप अपने क्षेत्र में आने वाले इलाके की गश्‍त पर लग जाएगा. 

इस तरह, CRPF का स्‍पेशल बाइक स्‍क्‍वायड लगातार 24 घंटे अपने क्षेत्र में आने वाले यात्रा मार्ग पर लगातार गश्‍त करता रहेगा. उन्‍होंने बताया कि स्‍पेशल बाइक स्‍क्‍वायड में तैनात जवानों की थकान का असर सुरक्षा व्‍यवस्‍था पर न पड़े, लिहाजा चंद घंटो के अंतराल में स्‍पेशल बाइक स्‍क्‍वायड के ग्रुप को बदल दिया जाएगा.

यह भी पढ़ें: POK से LeT के 18 आतंकियों ने की घुसपैठ, कंगन में आतंकी वारदात की साजिश!

उन्‍होंने बताया कि  स्‍पेशल बाइक स्‍क्‍वायड को खास तरह का हेलमेट उलपब्‍ध कराया गया है. इस हेलमेट में एक अत्‍याधुनिक कैमरा लाया गया है. इस कैमरे के फीड़ को CRPFकंट्रोल रूप से जोड़ा गया है. स्‍पेशल बाइक स्‍क्‍वायड गश्‍त के दौरान जिस इलाके से भी गुजरेगा, उसका लाइव फीड CRPF कंट्रोल में मौजूद अधिकारियों को मिलता रहेगा. 

उन्‍होंने बताया कि हेलमेट में लगे कैमरों से कंट्रोल रूम में तैनात कमांडिंग ऑफिसर को कई तरह के फायदे मिलेंगे. इसका पहला फायदा रूट पर हो रही गतिविधियों को लाइव देखा जा सकेगा. गश्‍त या एस्‍कार्ट के दौरान, यदि किसी बात पर स्‍क्‍वायड टीम का ध्‍यान नहीं जाता है तो कंट्रोल रूम तत्‍काल जवानों को अलर्ट कर सकेगा.

security for amarnath
आतंकी हमले की स्थिति में पीड़ितों को जल्‍द से जल्‍द अस्‍पताल तक पहुंचाने के लिए इस बाइक को मिनी एंबुलेंस में भी तब्‍दील किया जा सकता है.

उन्‍होंने बताया कि कई बार जवान मौके की परिस्थितियों को सही तरह के कम्‍युनिकेट नहीं कर पाते हैं. कैमरों की मौजूदगी से वरिष्‍ठ अधिकारियों को यह फायदा मिलेगा कि वह लाइव फीड देखकर मौके पर मौजूद परिस्थितियों के अनुसार सही फैसला ले सकेंगे. जिससे जवान बिना समय गवांए अधिकारियों से मिले निर्देशों पर कार्रवाई कर सकेंगे. 

CRPF के वरिष्‍ठ अधिकारी के अनुसार, गश्‍त के दौरान यदि जवानों का सामना आतंकियों से होता है तो कंट्रोल रूम को तत्‍काल इसकी जानकारी मिल जाएगी. वह जरूरत के अनुसार आस-पास मौजूद यूनिट से संपर्क कर जल्‍द से जल्‍द अतिरिक्‍त जवानों को मौके के लिए रवाना कर सकेंगे. जिससे आतंकियों के खिलाफ सख्‍त कार्रवाई की जा सके.

यह भी पढ़ें: अमरनाथ यात्रा पर बुरी नजर रखने वालों से निपटने के लिए कश्‍मीर पहुंची NSG की टीमें

उन्‍होंने बताया कि आतंकी हमले की स्थिति में पीड़ितों को जल्‍द से जल्‍द अस्‍पताल तक पहुंचाने के लिए इस बाइक को मिनी एंबुलेंस में भी तब्‍दील किया जा सकता है. CRPF के जवान इस बाइक से एक पीड़ित को बिना देरी अस्‍पताल तक पहुंचा सकेंगे. स्‍पेशल स्‍क्‍वायड की बाइक में एक प्राथमिक चि‍कित्‍सा के लिए उपयोगी सामान और दवाइयां को रखा गया है. 

CRPF के वरिष्‍ठ अधिकारी के अनुसार, विपरीत परिस्थितियों में उन स्‍थानों पर भी आसानी से पहुंच सकेंगे, जहां पर सुरक्षाबलों की बड़ी गाडियां या वाहन नहीं पहुंच सकते हैं. इन बाइक के जरिए कम से कम समय में ज्‍यादा से ज्‍यादा जवानों को मौके पर पहुंचाया जा सकेगा. जिससे बिना देरी कार्रवाई की जा सके.