अमरनाथ यात्रा: पहले दस दिनों में टूटा रिकॉर्ड, 1.31 लाख श्रद्धालुओं ने किए बाबा बर्फानी के दर्शन
Advertisement
trendingNow1551062

अमरनाथ यात्रा: पहले दस दिनों में टूटा रिकॉर्ड, 1.31 लाख श्रद्धालुओं ने किए बाबा बर्फानी के दर्शन

भक्तों से जब यात्रियों की बढ़ती संख्या का कारण पूछा जाता है तो वे जम्मू से लेकर घाटी तक कड़े सुरक्षा प्रबंधों, अमरनाथ श्राइन बोर्ड और केंद्र की तरफ से दी जा रही सुविधाओं को इसका कारण बताते हैं. 

(फाइल फोटो साभार- ANI)

श्रीनगर: अमरनाथ यात्रा यात्रा शुरू होने के दस दिन के भीतर ही श्रद्धालुओं की बढ़ती तदाद ने पिछले साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है. पिछले वर्ष इसी अवधि के दौरान करीब एक लाख दो हज़ार श्रद्धालुओं ने अमरनाथ गुफा पहुंच कर बाबा बर्फानी के दर्शन किए थे. लेकिन इस बार पिछले वर्ष का रिकार्ड पहले ही दस दिनों में टूट गया है. 

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक इस वर्ष अमरनाथ यात्रा (जिसकी शुरुआत1 जुलाई से शुरू हुई)  शुरू होने के पहले 10 दिनों में ही 1.31 लाख से ज्यादा बाबा के भक्तों ने पथरीले और बर्फ से डाके रास्तों को चीरते बाबा बर्फानी के दर्शन किए हैं. इन आंकड़ों के मुताबिक पिछले साल के मुकाबले भक्तों की संख्या 29 हज़ार अधिक हैं.

यह आंकड़े तो सरकारी है मगर कुछ ऐसे भी यात्री हैं जो बिना सुरक्षा के बाबा के दर्शन कर चुके है एक अधिकारी के मुताबिक इनकी तादाद करीब 5 हज़ार तक होगी. 

क्या कहना है यात्रियों का?
यात्रियों से जब इस बढ़ती संख्या का कारण पूछा जाता है तो वे जम्मू से लेकर घाटी तक कड़े सुरक्षा प्रबंधों, अमरनाथ श्राइन बोर्ड और केंद्र की तरफ से दी जा रही सुविधाओं को इसका कारण बताते हैं. 

यात्रियों के मुताबिक पुलवामा हमले और यात्रा से कुछ ही दिन पहले अननतनाग के केपी रोड पर हुए आत्मघाती हमले के कारण उन्हें काफी शंका थी लेकिन बेहतरीन सुरक्षा व्यवस्था ने उनका हौंसला बढ़ाया है. 

बाबा के दर्शन कर लोटे भक्त अजय सिंह ने कहा, 'आदमी जब सुरक्षित महसूस करेगा तो निडर होकर यात्रा करने आएगा, तदाद बढ़ती है अच्छी व्यवस्था के कारण, सेना के साथ-साथ पुलिस भी मुस्तैद है, इसका श्रेय सरकार को जाता है.'

सुरक्षा व्यवस्था ने बढ़ाया लोगों का हौंसला
अब तक 15 बार यात्रा कर चुके हैं नारायण सिंह कहते हैं, 'इस साल जो सुरक्षा व्यवस्था की गई हैं उस सुरक्षा को देखते हुए लोगों में काफी हौसला हैं और लोग बड़े आनंद से बमबम बोले के जयकार लगते आ रहे हैं, कोई परेशानी नहीं हुई हैं जगह जगह पर खाने पीने की अच्छी व्यवस्था है.' गौरतलब हैं की अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा व्यवस्था में इस बार 60 हजार सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है. 

आईजी सीआरपीएफ रविदीप के मुताबिक यात्रा के लिए थ्री टायर सुरक्षा व्यवस्था की गई है, 'अमरनाथ  यात्रा हमारे लिए प्रमुख इवेंट हैं, इसके लिए हमने बड़ी योजना बनाई है. सारे फोर्सेज के साथ हमारा कोर्डिनेशन हैं.'

इस वर्ष कुदरत भी मेहरबान रही है सर्दियों में कश्मीर घाटी खासकर पहाड़ी इलाकों में भारी बर्फबारी के कारण पवित्र गुफा में भोलेनाथ अपने पुरे आकर में प्रकट हुए हैं और आज भी गुफा के आस पास बर्फ मौजूद होने के कारण उम्मीद हैं कि भोले का अकार काफी समय तक चलेगा और अधिक से अधिक भक्त बाबा के दर्शन करेंगे. 

Trending news