close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अमरनाथ यात्रा : ITBP के कंधों के सहारे पूरी हो रही श्रद्धालुओं के मन की मुराद

आईटीबीपी की यह टीम लगातार दिन और रात में बुजुर्ग, महिलाओं सहित अन्‍य जरूरत मंद लोगों को अपने कंधों का सहारा देकर इस खतरनाक रास्‍ते को पार कराने में मदद कर रहे हैं.

अमरनाथ यात्रा : ITBP के कंधों के सहारे पूरी हो रही श्रद्धालुओं के मन की मुराद
श्रद्धालुओं को सबसे ज्‍यादा परेशानी रेलपथरी से बरारी मार्ग के बीच हो रही है.

नई दिल्‍ली: अमरनाथ यात्रा वैसे तो हमेशा से श्रद्धालुओं के लिए आसान नहीं थी, लेकिन इस बार प्रकृति श्रद्धालुओं की कुछ ज्‍यादा ही परीक्षा ले रही है. आमल यह है कि बालटाल से पवित्र गुफा की तरफ जाने वाला रास्‍ते में लगातार हो रही बारिश और भूस्‍खलन ने श्रद्धालुओं के सफर को बेहद जोखिम भरा बना दिया है. 

महज तीन से चार फीट चौड़ी पगडंडी से बाबा बर्फानी की तरफ बढ़ रहे श्रद्धालुओं की मुसीबत यह है कि पहाड़ में हो रही लैंड स्‍लाइडिंग के चलते लगातार बड़े-बड़े पत्‍थर उन्‍हें अपना निशाना बना रहे हैं, वहीं बारिश की वजह रास्‍ते की मिट्टी फिसलन युक्‍त कीचड़ में तब्‍दील हो रहा है. 

इस फिसलन भरे कीचड़ को पार करते समय किसी का भी ध्‍यान थोड़ा सा भी चूका, तो उसे कई हजार फीट गहरी खाई में जाने से कोई नहीं रोक सकता है. श्रद्धालुओं के इस मुश्किल भरे सफर को थोड़ा आसान करने के लिए आईटीबीपी ने अपने कदम आगे बढ़ाए हैं. 

आईटीबीपी ने अपने विवेचना में पाया कि श्रद्धालुओं को सबसे ज्‍यादा परेशानी रेलपथरी से बरारी मार्ग के बीच हो रही है. लिहाजा, आईटीबीपी ने अपने जवानों की एक टीम को रेलपथरी से बरारी मार्ग के बीच तैनात कर दिया है. 

ITBP helping Amarnath Yatri
श्रद्धालुओं के इस मुश्किल भरे सफर को थोड़ा आसान करने के लिए आईटीबीपी ने अपने कदम आगे बढ़ाए हैं.

आईटीबीपी की यह टीम लगातार दिन और रात में बुजुर्ग, महिलाओं सहित अन्‍य जरूरत मंद लोगों को अपने कंधों का सहारा देकर इस खतरनाक रास्‍ते को पार कराने में मदद कर रहे हैं.  

पहाड़ से गिर रहे पत्‍थरों की चपेट में आया श्रद्धालु : अमरनाथ यात्रा से जुड़े वरिष्‍ठ अधिकारी के अनुसार मंगलवार रात्रि बारिश के बाद पहाड़ में हुई लैंड स्‍लाइडिंग के चलते बड़े बड़े पत्‍थर यात्रा मार्ग पर आ कर गिरने लगे. इस दौरान यात्रियों का एक जत्‍था इसी यात्रा मार्ग से गुजर रहा था. 

पहाड़ से पत्‍थरों की हो रही बरसात में एक श्रद्धालु पत्‍थर की चपेट में आ गया. जिसे तत्‍काल, यात्रा मार्ग से पहले बालटाल बेस कैंप भेजा गया. जहां प्राथमिक उपचार देने के बाद क्रिटिकल केयर एंबुलेंस से उसे श्रीनगर के SMIMS हॉस्टिपट रवाना कर दिया गया. 

पत्‍थरों के शिकार हुए इस श्रद्धालु की पहचान उत्‍तराखंड निवासी पुष्‍कर जोशी के रूप में हुई है. 30 वर्षीय पुष्‍कर अपने दोस्‍तों और परिजनों के साथ अमरनाथ यात्रा पर आया था.