close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

इराक में मीडिया पर भड़के डोनाल्ड ट्रंप, कहा- 'अमेरिका ने नहीं ले रखा दुनिया का ठेका'

ट्रंप ने सीरिया से अमेरिकी सैनिकों को वापस बुलाने के अपने फैसले का बचाव करते हुए कहा कि वह आईएस को हराने के लिए अमेरिकी सैनिकों को वहां अधिक समय तक बने रहने के लिए और इजाजत नहीं दे सकते.

इराक में मीडिया पर भड़के डोनाल्ड ट्रंप, कहा- 'अमेरिका ने नहीं ले रखा दुनिया का ठेका'
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का फाइल फोटो

वॉशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सीरिया से अमेरिकी फौजों को वापस बुलाने के अपने फैसले की पुष्टि करते हुए कहा कि अमेरिका विश्व की चौकसी नहीं कर सकता. समाचार एजेंसी एफे के मुताबिक, ट्रंप ने इराक के औचक दौरे पर यह बात कही. ट्रंप प्रथम महिला मेलानिया ट्रंप के साथ स्थानीय समयानुसार शाम लगभग 7.16 बजे इराक के अल असद सैन्यअड्डे पर पहुंचे.

ट्रंप ने सीरिया से अमेरिकी सैनिकों को वापस बुलाने के अपने फैसले का बचाव करते हुए कहा कि वह आईएस को हराने के लिए अमेरिकी सैनिकों को वहां अधिक समय तक बने रहने के लिए और इजाजत नहीं दे सकते. सीरिया में इस्लामिक स्टेट के लड़ाकों से लड़ने के लिए अंतर्राष्ट्रीय गठबंधन सेना के तहत अमेरिका के लगभग 2,000 सैनिक मौजूदा हैं.  ट्रंप ने कहा, "अमेरिकी जनरल ने दोबारा कहा था कि क्या हमें और समय मिल सकता है? मैंने कहा, नहीं. आपको और समय नहीं मिल सकता. आपने बहुत समय दिया. हमने उन्हें (आईएस) खदेड़ दिया है. ट्रंप ने कहा कि उन्होंने तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तइप एर्दोगन से बात की और यह बातचीत बहुत उम्दा रही. ट्रंप ने कहा कि हमारे बीच आईएस को लेकर भी कड़ी बातें हुई. 

दुनिया बोझ अमेरिका के कंधों पर नहीं:ट्रंप
ट्रंप ने कहा, "अमेरिका दुनिया की चौकसी या निगरानी करना जारी नहीं रख सकता. यह उचित नहीं है कि सारा बोझ अमेरिका पर लाद दिया जाए." उन्होंने इराक के अपने दौरे के बारे में कहा कि वह अमेरिकी सैनिकों के अद्भुत कार्य, उनकी सेवाओं और बलिदानों के लिए शुक्रिया अदा करने के लिए यहां आए हैं. ट्रंप की बुधवार को इराक के प्रधानमंत्री अदेल अब्देलमाहदी से मिलने की योजना थी लेकिन यह बैठक नहीं हो सकी.

डोनाल्ड ट्रंप ने किया ट्विट
ट्रंप ने ट्वीट कर कहा, "मेलानिया और मैं इराक के अल असद सैन्यअड्डे पर हमारे बेहतरीन सैनिकों के बीच पहुंचकर सम्मानित महसूस कर रहे थे. भगवान अमेरिका पर कृपादृष्टि बनाए रखे." टेलीविजन चैनल के मतुाबकि, ट्रंप का यह औचक दौरा सिर्फ दो घंटे का रहा और वह बिना किसी इराकी नेता से मिले ही रवाना हो गए. व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने ट्वीट कर कहा, "ट्रंप और प्रथम महिला मेलानिया क्रिसमस की देर रात इराक पहुंचे. वे इराक में मौजूद सैनिकों को उनकी सेवाओं, उनकी कामयाबी और उनकी कुर्बानियों के लिए शुक्रिया अदा करने गए थे."

(इनपुटः आईएएनएस)