Farmers Protest: दिल्ली में चल रहे आंदोलन के बीच आज गुजरात के किसानों से मिलेंगे PM मोदी

कृषि कानूनों के विरोध में जारी किसान आंदोलन के बीच पीएम मोदी मंगलवार को कच्छ के कृषक समुदाय के अलावा गुजरात के सिख किसानों से भी मुलाकात करेंगे.  

Farmers Protest: दिल्ली में चल रहे आंदोलन के बीच आज गुजरात के किसानों से मिलेंगे PM मोदी

अहमदाबादः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को गुजरात में कच्छ के एक दिवसीय दौरे पर आएंगे. कृषि कानूनों के विरोध में जारी किसान आंदोलन के बीच वह कच्छ के कृषक समुदाय के अलावा गुजरात के सिख किसानों से भी मुलाकात करेंगे. एक आधिकारिक बयान में सोमवार को यह जानकारी दी गई. बयान के मुताबिक, प्रधानमंत्री कुछ परियोजनाओं का शिलान्यास करेंगे और कच्छ में धोरडो के किसानों और कलाकारों के साथ संवाद करेंगे. मुख्य कार्यक्रम से पहले वह कच्छ के किसानों के साथ चर्चा करेंगे.

कच्छ में रहते हैं 5,000 सिख परिवार
राज्य के सूचना विभाग की ओर से जारी प्रेस रिलीज के मुताबिक, भारत-पाक सीमा के पास बसे सिख किसानों को प्रधानमंत्री से संवाद के लिए आमंत्रित किया गया है. कच्छ जिले की लखपत तालुका में और इसके आसपास मिलाकर करीब 5,000 सिख परिवार रहते हैं. उल्लेखनीय है कि नए कृषि कानूनों के विरोध में हजारों किसान पिछले दो सप्ताह से भी अधिक समय से दिल्ली की सीमाओं पर विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें-Covid-19 वैक्सीन से नहीं होगा वुहान वायरस का अंत, जानिए इसके पीछे की बड़ी वजह?

दिल्ली के सिंघु बॉर्डर 32 किसान संगठन कर रहे प्रदर्शन
दिल्ली के सिंघु बॉर्डर पर सोमवार को करीब 32 किसान संगठनों के नेता केंद्र के नए कृषि कानूनों के विरोध में एक दिन के लिए भूख हड़ताल पर बैठे तथा देश के अन्य हिस्सों में कई किसानों ने इन कानूनों के विरोध में प्रदर्शन किए. इस बीच, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को जोर देकर कहा कि कृषि क्षेत्र ‘जननी’ है और इसके खिलाफ प्रतिगामी कदम उठाने का सवाल ही नहीं है.

ये भी पढ़ें-Farmers Protest: पुलिस ने किया परेशान तो थानों में बांध देंगे गाय, भैंस: राकेश टिकैत

किसानों से बातचीत के लिए तैयार है सरकार
किसान आंदोलन 19वें दिन में प्रवेश कर चुका है और हजारों की संख्या में किसान दिल्ली की सीमाओं पर डटे हुए हैं. ऐसे में केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने सोमवार को कहा कि किसानों के साथ वार्ता की अगली तारीख तय करने के लिए सरकार उनसे संपर्क में है. तोमर ने कहा, ‘‘बैठक निश्चित रूप से होगी. हम किसानों के साथ संपर्क में हैं.’’उन्होंने कहा कि सरकार किसी भी समय बातचीत के लिए तैयार है. किसान नेताओं को तय करके बताना है कि वे अगली बैठक के लिए कब तैयार हैं.

ये भी पढ़ें-किसानों को मिला अन्ना हजारे का साथ, केंद्र को चिट्ठी लिख दी अनशन करने की चेतावनी

किसान समूहों ने की राजनाथ सिंह से मुलाकात
इस बीच आगे की कार्रवाई को लेकर अलग-अलग समूहों ने तोमर और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की. प्रदर्शनकारी किसानों की 40 यूनियनों के प्रतिनिधियों के साथ सरकार की बातचीत की अगुवाई तोमर कर रहे हैं. इसमें उनके साथ केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग तथा खाद्य मंत्री पीयूष गोयल तथा वाणिज्य और उद्योग राज्यमंत्री सोम प्रकाश शामिल हैं. केंद्र और किसान नेताओं के बीच अब तक हुई पांच दौर की वार्ताएं बेनतीजा रही हैं. किसान संगठनों ने दावा किया कि देशभर में अनेक जिला मुख्यालयों पर प्रदर्शन भी आयोजित किए गए.

ये भी पढ़ें-Delhi: कोरोना काल में अचानक स्ट्राइक पर गईं AIIMS की 5000 नर्स, सेवाएं बाधित

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.