नोटबंदी : अमित शाह ने विपक्षी नेताओं पर साधा निशाना

नोटबंदी को लेकर विपक्षी दलों की लामबंदी पर निशाना साधते हुए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को कहा कि मनमोहन सिंह, ममता बनर्जी, अरविंद केजरीवाल, मुलायम सिंह और मायावती जैसे नेता अब एकसाथ हैं क्योंकि उनकी पार्टियां केंद्र के फैसले से बहुत अधिक प्रभावित हुई हैं।

नोटबंदी : अमित शाह ने विपक्षी नेताओं पर साधा निशाना

भुवनेश्वर : नोटबंदी को लेकर विपक्षी दलों की लामबंदी पर निशाना साधते हुए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को कहा कि मनमोहन सिंह, ममता बनर्जी, अरविंद केजरीवाल, मुलायम सिंह और मायावती जैसे नेता अब एकसाथ हैं क्योंकि उनकी पार्टियां केंद्र के फैसले से बहुत अधिक प्रभावित हुई हैं।

भाजपा के जन जागरण महासमावेश में उन्होंने कहा, ‘कालेधन को लेकर (प्रधानमंत्री नरेंद्र) मोदी जी के फैसले से मनमोहन सिंह, ममता बनर्जी, अरविंद केजरीवाल, मुलायम सिंह और अन्य असहज हो गये हैं। उनके चेहरे का नूर उड़ गया है।’ पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कल राज्यसभा में अपने संबोधन में नोटबंदी की आलोचना की थी, जिस पर कटाक्ष करते हुए शाह ने कहा, ‘नोटबंदी की योजना से मनमोहन सिंह जी को दर्द हो रहा है। उन्होंने कहा कि दर्द उन्हें होना चाहिए जिनके कालेधन और भ्रष्टाचार से अर्जित किये गये धन रद्दी में तब्दील हो गये हैं, इससे मनमोहन सिंह क्यों परेशान हो रहे हैं?’ 

उन्होंने इस बात पर आश्चर्य प्रकट किया कि विपक्षी नेता ‘कालेधन के खिलाफ उठाये गये कदम’ को लेकर क्यों नाखुश हैं।’ भाजपा अध्यक्ष ने कहा, ‘सात तारीख तक समूचा विपक्ष सवाल करता था कि मोदी जी, आपने कालेधन का क्या किया। अब आठ तारीख की रात से कह रहे हैं कि कालेधन के लिए ऐसा क्यों किया।’ उन्होंने पूछा कि विपक्ष का ‘क्या’ अचानक ‘क्यों’ में कैसे बदल गया? शाह ने कहा, ‘मैं तो (विपक्ष से) यह पूछना चाहता हूं कि आखिर आपका क्या गया? कालेधन के खिलाफ मोदी जी के कदम से आप क्यों परेशान हैं?’ 

उन्होंने साथ ही कहा कि विभिन्न विचारधाराओं के दल इस मुद्दे पर उनके साथ आये हैं।

भाजपा अध्यक्ष शाह ने कहा, ‘जब बाढ़ आती है तो सांप और नेवले, चूहे और बिल्ली एक पेड़ पर एकसाथ रहते हैं। मोदी की नोटबंदी की बाढ़ ने सपा, कांग्रेस, ममता, मुलायम, मायावती और केजरीवाल को एक ही छाते के नीचे शरण लेने के लिए मजबूर कर दिया है। वे मोदी के बाढ़ के पानी (कालेधन के खिलाफ कदम) के नीचे उतरने की प्रतीक्षा कर रहे हैं।’ कालेधन के खिलाफ मोदी के फैसले को अहम बताते हुए शाह ने नोटबंदी की सराहना की और कहा कि इससे विपक्ष के डरने की कोई वजह नहीं है।

सीमा पार आतंकवाद पर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा चिंता जताये जाने पर शाह ने कहा, ‘मनमोहन सिंह और सोनिया गांधी के दिन गए, जब आतंकवादी भारत में घुसकर आतंक मचाया करते थे। अब मोदी सरकार इस तरह की किसी भी चीज का माकूल जवाब देती है।’ उन्होंने कहा कि मोदी के मजबूत राजनैतिक इच्छाशक्ति और भारतीय सैनिकों की बहादुरी से सीमा पार आतंकियों के शिविरों पर गुप्त अभियान को अंजाम दिया गया।

दुनिया भर में देश की छवि को चमकाने के लिए प्रधानमंत्री के प्रयासों की सराहना करते हुए शाह ने कहा कि विभिन्न देशों ने भारत को अपनी धरती पर आमंत्रित किया है। उन्होंने कहा, ‘मोदी जी भारत के नाम को नई उंचाई पर ले गये हैं।