close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

महाराष्‍ट्र के सतारा में आया भूकंप, लगातार दो बार महसूस हुए झटके

भूकंप का पहला झटका गुरुवार सुबह करीब 7:48 बजे महसूस किया गया था. 

महाराष्‍ट्र के सतारा में आया भूकंप, लगातार दो बार महसूस हुए झटके
फाइल फोटो

नई दिल्‍ली: महाराष्‍ट्र के सतारा इलाके में गुरुवार सुबह भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं. मौसम विभाग के अनुसार, महाराष्‍ट्र के सतारा इलाके में लगातार दो बार भूकंप के झटके महसूस किए गए. भूकंप का पहला झटका सुबह करीब 7:48 बजे महसूस किया गया. भूकंप का यह झटका करीब 4.8 मैगनीट्यूट तीव्रता का था. 

वहीं, भूकंप का दूसरा झटका करीब 8:27 बजे महसूस किया गया. इस भूकंप की तीव्रता करीब 3 मैगनीट्यूट थी. स्‍थानीय प्रशासन भूकंप के चलते हुए हानि का आंकलन करने में जुट गया है. अभी तक, भूकंप के इन झटकों के चलते किसी तरह के जन हानि की खबर नहीं है. 

मौसम विभाग के अनुसार, गुरुवार सुबह करीब 7:48 बजे आए भूकंप की तीव्रता 4.8 मैगनीट्यूट थी. इस भूकंप का केंद्र सतारा में था. वहीं, भूकंप के इस झटके का असर जमीनी सतह से करीब 10 किमी नीचे तक था.   

मौसम विभाग के अनुसार, भूकंप का दूसरा झटका करीब 8:27 बजे महसूस किया गया. भूकंप के इन झटकों की तीव्रता पहले झटके से कम थी. मौसम विभाग ने भूकंप के दूसरे झटकों की तीव्रता करीब 3 मैगनीट्यूट पाई है. 

मौसम विभाग के अनुसार, गुरुवार सुबह करीब 8:27 बजे आए भूकंप का असर जमीनी सतह से करीब पांच किमी नीचे तक था. सूत्रों के अनुसार, भूकंप के इन झटकों के बाद पूरे इलाके में अफरा-तफरी का माहौल बन गया. लोग एहतियातन घरों से निकल कर बाहर खुली जगहों पर एक‍त्रित हो गए. 

भूकंप के दौरान इन चीजों को करने से बचे
- भूकंप के दौरान आपको लिफ्ट का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए.
- बाहर जाने के लिए लिफ्ट की बजाय सीढ़ियों का इस्तेमाल करें.
- कहीं फंस गए हों तो दौड़ें नहीं. इससे भूकंप का ज्यादा असर होगा.
-अगर आप गाड़ी या कोई भी वाहन चला रहे हो तो उसे फौरन रोक दें.
- वाहन चला रहे हैं तो बिल्डिंग, होर्डिंग्स, खंभों, फ्लाईओवर, पुल से दूर सड़क के किनारे गाड़ी रोक लें.
-भूकंप आने पर तुरंत सुरक्षित और खुले मैदान में जाएं. बड़ी इमारतों, पेड़ों, बिजली के खंभों से दूर रहें.
- भूकंप आने पर खिड़की, अलमारी, पंखे, ऊपर रखे भारी सामान से दूर हट जाएं ताकि इनके गिरने से चोट न लगे.

भूकंप के दौरान क्या करें
- टेबल, बेड, डेस्क जैसे मजबूत फर्नीचर के नीचे छिप जाएं.
- किसी मजबूत दीवार, खंभे से सटकर सिर, हाथ आदि को किसी मजबूत चीज से ढककर बैठ जाएं.
-किसी मजबूत दीवार, खंभे से सटकर सिर, हाथ आदि को किसी मजबूत चीज से ढ़ककर बैठ जाएं.

बता दें कि रिक्‍टर स्‍केल पर जितना ज्‍यादा भूकंप मापा जाता है, जमीन में उतना ही अधिक कंपन होती है. मसलन, रिक्टर पैमाने पर 7.9 तीव्रता का भूकंप आने पर इमारतें तक गिर जाती हैं. वहीं, 2.9 रिक्टर स्केल पर भूकंप आने पर हल्का कंपन होता है. दरअसल, रिक्टर पैमाना भूकंप की तरंगों की तीव्रता मापने का एक गणितीय पैमाना है. किसी भूकंप के समय भूमि के कंपन के अधिकतम आयाम और किसी आर्बिट्रेरी छोटे आयाम के अनुपात के साधारण गणित को 'रिक्टर पैमाना' कहते हैं.