....और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने नाखुश होकर रोक दिया अपना भाषण

 ....और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने नाखुश होकर रोक दिया अपना भाषण
सम्मेलन को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति कोविंद ने देखा कि वहां मौजूद लोगों के बीच खाने के पैकेट बांटे जा रहे हैं . यह देखकर राष्ट्रपति कोविंद ने अपना भाषण कुछ देर के लिए रोक दिया. (फाइल फोटो)

अमरावती: इंडियन इकोनॉमिक असोसिएशन (आईईए) के सम्मेलन के दौरान बुधवार (27 दिसंबर) को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उस वक्त नाखुश होकर अपना भाषण बीच में ही रोक दिया जब उन्होंने देखा कि उनके संबोधन के दौरान प्रतिनिधियों को खाने के पैकेट बांटे जा रहे हैं . इस भूल की तरफ आयोजकों का ध्यान दिलाने के लिए कुछ देर तक अपना भाषण रोक कर राष्ट्रपति ने उनसे कहा कि वे उनका संबोधन पूरा होने तक पैकेट बांटना बंद करें .

आईईए के शताब्दी सम्मेलन को संबोधित करते हुए कोविंद ने देखा कि वहां मौजूद लोगों के बीच खाने के पैकेट बांटे जा रहे हैं . यह देखकर कोविंद ने अपना भाषण कुछ देर के लिए रोक दिया और दर्शकों की तरफ देखा, क्योंकि उधर शोर होने लगा था . सम्मेलन में हिस्सा ले रहे प्रतिनिधियों और मीडिया कर्मियों के बीच खाने के पैकेट बंटते देखकर कुछ छात्र पैकेट हासिल करने के लिए अपनी सीट से खड़े हो गए थे .

कोविंद ने कहा, ‘‘आर्थिक जगत में जो कुछ हो रहा है....वही तस्वीर मैं इस सम्मेलन में भी देख रहा हूं . मुझे लगता है कि खाने के पैकेट बांटे जा रहे हैं . निश्चित तौर पर यह जरूरी है, लेकिन इसने तो व्यवस्था को ही गड़बड़ कर दिया है .’’ खाने के पैकेटों का वितरण रोकने के लिए पुलिस कर्मियों एवं अधिकारियों की ओर से दिए गए दखल के बीच कोविंद ने कहा, ‘‘लिहाजा, मैं आयोजकों से अनुरोध करता हूं, क्या वे कुछ देर के लिए खाने के पैकेटों का वितरण रोकेंगे .’’ इसके बाद राष्ट्रपति ने अपना संबोधन पूरा किया.