इस राज्‍य के CM ने कहा- जहां हैं, वहीं रहें वरना जबरन करना पड़ेगा Quarantine

मुख्यमंत्री ने ये बात तब कही है, जब यहां कई लोग तेलंगाना से आंध्र प्रदेश की सीमा को पार करने की कोशिश कर रहे हैं.

इस राज्‍य के CM ने कहा- जहां हैं, वहीं रहें वरना जबरन करना पड़ेगा Quarantine
फाइल फोटो

अमरावती: आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) के मुख्यमंत्री वाईएस जगनमोहन रेड्डी (YS Jagan Mohan Reddy) ने लॉकडाउन के बावजूद राज्य की सीमा पार करने वाले लोगों से कहा है कि आपलोग जहां हैं, वहीं रहें, वरना अगर ऐसे ही चलता रहा, तो हमें आपको जबरन क्वारन्टीन (Quarantine) करना पड़ेगा. 

मुख्यमंत्री ने ये चेतावनी तब दी है, जब हैदराबाद में रह रहे सैकड़ों लोग, आंध्र प्रदेश में अपने घर वापस लौटना चाह रहे हैं.  ये तेलंगाना से आंध्र प्रदेश की सीमा को पार करने की कोशिश कर रहे हैं और पुलिस इन्हें कड़ाई से रोकने की कोशिश कर रही है. आज 26 मार्च की शाम को भी लोग आंध्र-तेलंगाना सीमा के पास जमा हुए थे.

मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि जहां हैं, वहीं रहें और कोरोना वायरस से लड़ने में मदद करें. सरकार सभी जरूरी कदम उठा रही है, लेकिन इसमें हमें आपका सहयोग भी चाहिए. इसीलिए आप अपने घरों में रह​कर, हमें सहयोग दें. 

गुरुवार को एक उच्चस्तरीय बैठक के बाद रेड्डी ने कहा, अगर लोग ऐसे ही आवाजाही करते रहे, तो उनके कॉन्टैक्ट पॉइंट को ट्रैक करना मुश्किल होगा और परिस्थितियां और ज्यादा चुनौतीपूर्ण होती चली जाएंगी. 

जगनमोहन रेड्डी ने बताया कि जिन लोगों ने किसी भी तरह से सीमा पार कर ली है, उन्हें 14 दिनों के लिए आइसोलेशन में रखा गया है. वह अपने घर नहीं जा सकते, तो फिर यहां आने का क्या मतलब रहा. 

रेड्डी ने कहा, लोगों को घरों में रहना चाहिए. हमने मेडिकल इमरजेंसी के लिए 104 और अन्य इमरजेंसी सेवाओं के लिए 1902 हेल्पलाइन नंबर्स जारी किए हैं. ये आम लोगों के लिए 24 घंटे एक्टिव रहेंगी. आप यहां कभी भी कॉल कर सकते हैं.

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगर लोग होम आइसोलेशन में रहते हैं, तो जरूरतमंद लोगों और उनके कॉन्टैक्ट पॉइंट को ट्रैक करना आसान होगा. इससे पहले हमारे साथ कभी इस तरह की आपात स्थिति नहीं आई. तीन हफ्तों का आइसोलेशन इस मुश्किल वक्त में आपका सबसे बड़ा योगदान होगा. 

ये भी पढ़ें- कोरोना पर PM मोदी का प्रहार, पूरी दुनिया में हो रही वाहवाही, चीन बोला- भारत ये लड़ाई जल्द जीत लेगा

अभी तक 10 पॉजिटिव मामले सामने आए हैं और अधिकारियों ने 27, 819 विदेश से आने वाले लोगों को ट्रैक किया है. ये आंध्र प्रदेश, तिरुपति, विशाखापत्तनम, विजयवाडा और नेल्लोर में ट्रैक किए गए हैं. इन सभी जगहों पर आइसोलेशन वॉर्ड और डे​डीकेटेड मेडीकेयर के साथ क्रिटिकल केयर सुविधाएं भी होंगी. अस्पतालों के आइसोनेशन वॉर्ड में सभी सुविधाएं हैं.

इसके साथ मुख्यमंत्री ने बताया कि 10 विभाग नॉन मेडिकल इमरजेंसी सेवाओं के लिए काम कर रहे हैं और हमने सामान ले जा रहे वाहनों से प्रतिबंध हटा लिया है.