सचिवालय पहुंचते ही जगन मोहन रेड्डी ने सरकारी कर्मचारियों को दिया खास तोहफा, तालियों से गूंज उठा हॉल

नई सरकार से तोहफा मिलते ही सचिवालय में मौजूद सभी कर्मचारियों ने वाईएस जगन जिंदाबाद के नारे लगाये. रेड्डी ने यह भी घोषणा की कि रविवार को होने वाले मंत्रिमंडल की बैठक में कर्मचारियों की समस्याओं पर फैसला लिया जाएगा. 

सचिवालय पहुंचते ही जगन मोहन रेड्डी ने सरकारी कर्मचारियों को दिया खास तोहफा, तालियों से गूंज उठा हॉल
सचिवालय पहुंचे जगन मोहन रेड्डी ने कर्मचारियों को 27 फीसदी अंतरीम राहत (आईआर) की घोषणा की.

नई दिल्ली : आंध्र प्रदेश के नए मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी कुर्सी संभालते ही एक्शन में आ गए है. शनिवार को सचिवालय पहुंचे रेड्डी ने ग्रीवेन्स हॉल में सरकारी कर्मचारियों से मुलाकात की. जगन मोहन रेड्डी ने कर्मचारियों को आश्वासनों की अमलावरी की घोषणा कर दी. जानकारी के मुताबिक, शनिवार को सचिवालय पहुंचे जगन मोहन रेड्डी ने  कर्मचारियों को 27 फीसदी अंतरीम राहत (आईआर) की घोषणा की. इसके अलावा सीपीएस रद्द करने का भी ऐलान किया. साथ ही आउटसोर्सिंग कर्मचारियों के वेतन में भी वृद्धि की घोषणा की. रेड्डी से सौगत मिलते ही सभी सरकारी कर्मचारियों में खुशी की लहर दौड़ पड़ी और कुछ ही पलों में पूरा सचिवालय तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा. 


नई सरकार से तोहफा मिलते ही सचिवालय में मौजूद सभी कर्मचारियों ने वाईएस जगन जिंदाबाद के नारे लगाये.

कर्मचारियों ने लगाए नारे
नई सरकार से तोहफा मिलते ही सचिवालय में मौजूद सभी कर्मचारियों ने वाईएस जगन जिंदाबाद के नारे लगाये. रेड्डी ने यह भी घोषणा की कि रविवार को होने वाले मंत्रिमंडल की बैठक में कर्मचारियों की समस्याओं पर फैसला लिया जाएगा. उन्होंने यह कहा कि घोषणापत्र में दिए हर आश्वासन को पूरा किया जाएगा. सरकार की योजनाओं का लाभ लोगों तक पहुंचने के लिए कर्मचारियों का सहयोग अत्यंत आवश्यक है.

वाईएस जगन ने कहा कि मुख्यमंत्री के साथ कर्मचारी संघ के नेताओं का निकटतम बने रहना आम बात है. क्योंकि कर्मचारी अपनी समस्याओं का समाधान पाने के लिए ऐसा करते हैं. पिछली सरकार में जो भी कर्मचारी मुख्यमंत्री के करीब रहे है, मैं उन्हें गलत नहीं मानता हूं.