close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

चंडीगढ़: SSOC के हत्थे चढ़ा एक और KZF आतंकवादियों का एक और साथी, दर्ज है कई केस

स्टेट स्पेशल ऑपरेशन सेल की टीम ने तरन तारन के कस्बा चोहला साहिब से खालिस्तान ज़िंदाबाद फोर्स के चार आतंकियों को भारी मात्रा में गोला बारूद के साथ गिरफ्तार किया था. इन्हें पाकिस्तान की तरफ से ड्रोन की मदद से हथियारो और बारूद की सप्लाई होती थी.

चंडीगढ़: SSOC के हत्थे चढ़ा एक और KZF आतंकवादियों का एक और साथी, दर्ज है कई केस
प्रतीकात्मक तस्वीर

चंडीगढ़: स्टेट स्पेशल ऑपरेशन सेल (State Special Operation Cell) की टीम ने दी तरन तारन के कस्बा झब्बाल में दबिश दी है, जहां उन्होंने खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स (KZF) के आतंकवादियों के एक साथी रोबनजीत सिंह को हिरासत में लिया है. जानकारी के मुताबिक, रोबनजीत सिंह, झब्बाल का ही रहने वाला है. 

दरअसल, जिस लक्ष्मी राइस मिल में ड्रोन को खुर्द-बुर्द किया गया था. उस मिल के गेट की चाबी रोबनजीत सिंह के पास थी. रोबनजीत के खिलाफ पहले भी हत्या प्रयास जैसे केस दर्ज हैं. रोबनजीत सिंह से पूछताछ की जा रही है. 

स्टेट स्पेशल ऑपरेशन सेल की टीम ने तरन तारन के कस्बा चोहला साहिब से खालिस्तान ज़िंदाबाद फोर्स के चार आतंकियों को भारी मात्रा में गोला बारूद के साथ गिरफ्तार किया था. इन्हें पाकिस्तान की तरफ से ड्रोन की मदद से हथियारो और बारूद की सप्लाई होती थी.

22 सितंबर को पुलिस ने पाकिस्तान से ड्रोन के जरिए आए हथियारों की बड़ी खेप बरामद की थी. इस संबंध में पुलिस ने होशियारपुर निवासी बलवंत सिंह बाबा, हरभजन सिंह, बलबीर सिंह, गुरदेव सिंह, अमृतसर के आकाशदीप सिंह, तरनतारन निवासी शुभ प्रीत सिंह और जेल में बंद आतंकी मानसिंह को गिरफ्तार कर लिया था. इनके कब्जे से पांच एके-47 राइफलें व अन्य हथियार बरामद किए गए थे. 

लाइव टीवी देखें

गिरफ्तार आतंकी आकाशदीप ने पुलिस की पूछताछ में कबूल किया कि वो पाकिस्तान स्थित खालिस्तानी आतंकी रंजीत सिंह नीटा के संपर्क में था. आकाशदीप के मुताबिक नीटा का नंबर उसे जर्मनी में रहने वाले आतंकी गुरमीत सिंह उर्फ बग्गा से मिला था. आकाशदीप ने तय किया था कि कब और किस जगह हथियारों की खेप चाहिए. इसके बाद बग्गा ने नीटा को यह जानकारी दी और फिर खेप भेजने का रूट तय किया गया.