सीमा पर विवाद के बीच लद्दाख जाएंगे सेना प्रमुख, सुरक्षा और तैयारियों का लेंगे जायजा

LAC पर जारी तनाव के बीच सेना प्रमुख एमएम नरवणे लद्दाख का दौरा करेंगे. यह दौरा जल्द होगा. नरवणे मौजूदा हालातों और सुरक्षा-व्यवस्था का जायजा लेंगे. 

सीमा पर विवाद के बीच लद्दाख जाएंगे सेना प्रमुख, सुरक्षा और तैयारियों का लेंगे जायजा

नई दिल्ली: LAC पर जारी तनाव (Ladakh clash) के बीच सेना प्रमुख एमएम नरवणे (MM Naravane) लद्दाख का दौरा करेंगे. यह दौरा जल्द होगा. नरवणे मौजूदा हालातों और सुरक्षा-व्यवस्था का जायजा लेंगे. गलवान घाटी में भारतीय सैनिकों ने जिस तरह के शौर्य का प्रदर्शन किया है, उससे चीन के होश उड़े हुए हैं. भारतीय सेना के हौंसले बुलंद हैं. सरकार की ओर से तीनो सेनाप्रमुखों को किसी भी हालात से निपटने की खुली छूट दे दी गई है.

इसी बीच, LAC पर तनाव को लेकर भारत और चीन के बीच सोमवार को कोर कमांडर स्तर की बातचीत जारी है. चीन क्षेत्र के माल्डो में दोनों सेनाओं के बीच बातचीत चल रही है. पीपल्स लिबरेशन आर्मी के आग्रह पर बैठक बुलाई गई है. भारतीय सेना ने गलवान में जिस तरह का पराक्रम दिखाया है, उससे चीन घबरा गया है. अब चीन ने LAC पर तनाव को लेकर बैठक का आग्रह किया है.

गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में 20 भारतीय सैनिकों के शहीद होने के एक हफ्ते बाद यह उच्च स्तरीय वार्ता हो रही है. वार्ता में भारतीय शिष्टमंडल की अगुवाई 14 कोर कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल हरिन्दर सिंह कर रहे हैं. लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की पहले दौर की बातचीत छह जून को हुई थी जिसमें दोनों पक्षों ने सभी संवेदनशील इलाकों से सैनिकों को हटाने का फैसला किया था.

भारतीय सेना ने तोड़ा चीन का गुरूर
चीन की सेना को पहली बार भारत से अपमान झेलना पड़ा है. चीन के सैनिक भारत के आक्रामक रवैये से हैरान रह गए. कर्नल संतोष बाबू की शहादत के बाद जवान आक्रोशित हो गए. चीन के सैनिकों को भारतीय सैनिकों ने दर्दनाक मौत दी. भारतीय सैनिकों ने चीन के सैनिकों की पसलियों को तोड़ डाला. चीन को अपने सैनिकों के शवों को पहचानना भी मुश्किल हुआ. भारतीय सैनिकों ने चीन के कर्नल को भी पकड़ लिया. भारतीय सेना ने चीन के 17 सैनिकों के शव लौटाए. भारत ने सम से कम चीन की People's Liberation Army के 50 सैनिकों को मारा है.

ये भी देखें...