#ArmyDay पर सेना प्रमुख बिपिन रावत बोले- हम पाकिस्तान के भेजे आतंकी खत्म करते रहेंगे

भारतीय सेना आज अपना 70वां आर्मी दिवस मना रही है. सेनाध्यक्ष बिपिन रावत इस मौके पर पाकिस्तान को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि हम पाक के भेजे हुए आतंकी खत्म करते रहेंगे.

#ArmyDay पर सेना प्रमुख बिपिन रावत बोले- हम पाकिस्तान के भेजे आतंकी खत्म करते रहेंगे
आर्मी चीफ ने पाक को चेताया (फोटो-ANI)

नई दिल्ली: भारतीय सेना आज अपना 70वां आर्मी दिवस मना रही है. इस मौके पर पीएम नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी सेना को बधाई दी. आर्मी डे पर नई दिल्ली में परेड का आयोजन किया गया. सेनाध्यक्ष बिपिन रावत ने इस दौरान परेड की सलामी ली. इसके बाद सेना के 15 वीर जवानों को मेडल दिए गए, जिनमें से पांच मेडल शहीद जवानों के परिवार को सौंपे गए. परेड के बाद आर्मी चीफ ने कड़े शब्दों में पाकिस्तान को चेतावनी देते हुए कहा कि हम पाक के भेजे आतंकी खत्म करते रहेंगे और उसे मुंहतोड़ जवाब देते रहेंगे.

पाकिस्तान को लेकर आर्मी चीफ ने कही ये बड़ी बातें

  • पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब देते रहेंगे.
  • पाकिस्तान के भेजे आतंकी खत्म करते रहेंगे.
  • पाकिस्तान सीजफायर का उल्लंघन करता रहता है.
  • पाकिस्तान राष्ट्रीय एकता पर प्रहार कर रहा है.
  • पाकिस्तान की सेना घुसपैठियों की मदद करती है.
  • हमें मजबूर किया तो हम और मजबूत कार्रवाई करेंगे.
  • सेना हर चुनौती को तैयार, डटकर करेंगे मुकाबला.
  • दुश्मनों के खिलाफ हम कड़ी कार्रवाई करते रहेंगे.
  • सेना को सफल बनाने के लिए एकजुट होना होगा.
  • कश्मीर में शांति बहाली की कोशिश करते रहेंगे.
  • हमें मिलकर सफलता के लिए प्रयास करना होगा.

राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने दी बधाई
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'सेना दिवस के अवसर पर भारतीय सेना के सभी फौजी भाई-बहनों, युद्धवीरों और वर्दीधारी सैनिकों के परिवारजनों को बधाई. आप हमारे राष्ट्र के गौरव हैं और हमारी आजादी के रखवाले. हर भारतीय चैन की नींद सो सकता है, क्योंकि उसे भरोसा है कि आप चौकन्ने और सतर्क रहते हैं.'

जम्मू-कश्मीरः उरी में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, घुसपैठ की कोशिश कर रहे 6 आतंकी ढेर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा कि हर भारतीय को सेना पर गर्व है. उन्होंने लिखा, 'सेना दिवस पर, मैं सैनिकों, पूर्व सैनिकों और उनके परिवारों को बधाई देता हूं. भारत के हर नागरिक को हमारी सेना पर विश्वास और गर्व है, जो राष्ट्र की रक्षा करता है और प्राकृतिक आपदाओं और अन्य दुर्घटनाओं के समय मानवतावादी प्रयासों में सबसे आगे है.'

पीएम ने एक और ट्वीट करते हुए लिखा, 'हमारी सेना के लिए राष्ट्र हमेशा पहले रहा. मैं उन सभी महान व्यक्तियों को सलाम करता हूं जिन्होंने राष्ट्र की सेवा करते हुए अपने जीवन का बलिदान दिया. भारत हमारे बहादुर नायकों को कभी नहीं भूलेगा.'

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी आर्मी दिवस पर ट्वीट किया और लिखा, 'सेना दिवस के अवसर पर सभी सेना कर्मियों, पूर्व सैनिकों और उनके परिवारों को शुभकामनाएं. भारतीय सेना साहस, सामंजस्य और क्षमता का प्रतीक है. सेना के समर्पण, अनुशासन और सैनिकों द्वारा किए गए सर्वोच्च बलिदान के लिए मैं सेना को सलाम करता हूं.'

जनरल बिपिन रावत बोले; सरकार कहे तो सेना सीमापार जाने को तैयार

इसलिए मनाया जाता है आर्मी डे
भारत के आजाद होने के बाद 15 जनवरी को पहली बार भारत की सेना की कमान एक भारतीय को सौंपी गई थी. फील्ड मार्शल के.एम.करियप्पा ने इसी दिन यानी 15 जनवरी, 1949 को आखिरी ब्रिटिश कमांडर इन चीफ जनरल सर फ्रांसिस बूचर से भारतीय थल सेना के कमांडर इन चीफ का प्रभार संभाला था. इस मौके पर न सिर्फ दिल्ली बल्कि पूरे देशभर में सेना के सभी मुख्यालयों में परेड और मिलिट्री शो का आयोजन होता है.