मिशन शक्ति: अरुण जेटली ने कहा, वैज्ञानिक एक दशक से तैयार थे, कांग्रेस सरकार ने अनुमति नहीं दी

अरुण जेटली ने कहा कि विपक्ष ‘लिपिकीय आपत्तियां’’ दर्ज करा रहा है और उसे राष्ट्रीय सुरक्षा की कोई चिंता नहीं है . 

मिशन शक्ति: अरुण जेटली ने कहा, वैज्ञानिक एक दशक से तैयार थे, कांग्रेस सरकार ने अनुमति नहीं दी

नई दिल्ली: उपग्रह रोधी मिसाइल परीक्षण ‘मिशन शक्ति’ को लेकर वित्त मंत्री अरूण जेटली ने बुधवार को पूर्ववर्ती यूपीए सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि वैज्ञानिक एक दशक पहले ही इसके लिए सक्षम थे लेकिन उस समय की सरकार ने उन्हें कभी ऐसा करने की अनुमति नहीं दी . 

परीक्षण के समय को लेकर उठायी गई आपत्तियों के संदर्भ में उन्होंने कहा कि विपक्ष ‘लिपिकीय आपत्तियां’’ दर्ज करा रहा है और उसे राष्ट्रीय सुरक्षा की कोई चिंता नहीं है . 

विपक्ष खासकर कांग्रेस पर निशाना साधते हुए अरुण जेटली ने कहा, 'जो लोग नाकामियों के लिए अपनी पीठ थपथपाते हैं, उनको याद रहना चाहिए कि उनसे जुड़ी कहानियों के पद चिह्न बहुत दूर तक हैं और कहीं न कहीं ये पद चिह्न मिल ही जाते हैं .' 

अरुण जेटली ने रक्षा के क्षेत्र में उदासीनता को लेकर कांग्रेस पर प्रहार करते हुए कहा कि पिछली संप्रग सरकार में डीआरडीओ की क्षमता पर भरोसा नहीं किया जिसके कारण इस प्रकार के 'ऑपरेशन' को अनुमति नहीं मिली. उन्होंने कहा, 'कांग्रेस आज इस उपलब्धि के लिए अपनी पीठ थपथपा रही है...लेकिन तत्कालीन सोनिया-मनमोहन की कांग्रेस सरकार ने इसकी अनुमति नहीं दी.'  

अरूण जेटली ने कहा कि जब अग्नि 5 परीक्षण हुआ था तो 21 अप्रैल 2012 को प्रकाशित एक साक्षात्कार में प्रसिद्ध वैज्ञानिक वी के सारस्वत ने कहा था कि हमारे पास ऐसी इच्छा और क्षमता है, लेकिन सरकार अनुमति नहीं दे रही.

अरुण जेटली का यह बयान ऐसे समय में आया है जब बुधवार को भारत ने अंतरिक्ष में उपग्रह रोधी मिसाइल से एक लाइव सैटेलाइट को मार गिराते हुए अपना नाम अंतरिक्ष महाशक्ति के तौर पर दर्ज कराया. साथ ही भारत ऐसी क्षमता हासिल करने वाला दुनिया का चौथा देश बन गया. 

कांग्रेस सहित विपक्षी दलों ने इस उपलब्धि के लिए वैज्ञानिकों की सराहना की लेकिन यह भी कहा कि इसका श्रेय राजनीतिक फायदे के लिए प्रधानमंत्री को नहीं लेना चाहिए था. 

इस मुद्दे पर भाजपा की ओर से वित्त मंत्री अरूण जेटली, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और सूचना प्रसारण मंत्री राज्यवर्द्धन सिंह राठौड़ ने संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में अपना पक्ष रखा . अरूण जेटली ने कहा, 'यहां हम राष्ट्रीय सुरक्षा की बात कर रहे हैं और दूसरी तरफ विपक्षी दल कह रहे हैं कि अब क्यों किया है, चुनाव के बाद ऐसा करते .'  

भाजपा के वरिष्ठ नेता ने कहा कि जो लोग अपनी नाकामियों के लिए अपनी पीठ थपथपाते हैं, उनको याद रहना चाहिए कि उनके झूठ और नाकामी की कहानियों की सूची बहुत लंबी है और जल्दी ही उनके झूठ की पोल भी खुल ही जाती है. 

जेटली ने विपक्ष द्वारा सर्जिकल स्ट्राइक एवं बालाकोट में भारतीय सेना द्वारा की गयी एयर स्ट्राइक पर सबूत मांगकर सेना के मनोबल को विपक्ष द्वारा गिराने का आरोप लगाया . भाजपा के वरिष्ठ नेता ने कहा, 'हर तरह की लड़ाई के लिए हमें तैयारी करनी है और हमारी तैयारी ही हमारी सुरक्षा है.' वित्त मंत्री ने कहा कि इस प्रकार की ताकत के साथ भारत की केवल शक्ति ही नहीं बढ़ेगी बल्कि इस क्षेत्र में शांति रखने की हमारी क्षमता भी बढ़ेगी .