close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अरुणाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव: मोदी की बयार, 60 में से 41 सीटों पर खिला कमल, बनाएगी सरकार

विधानसभा चुनाव जीतने वाले प्रमुख भाजपा नेताओं में मुक्तो सीट से मुख्यमंत्री पेमा खांडू, चोवखाम सीट से उपमुख्यमंत्री चोवना मेन और मिआओ सीट से मंत्री कामलुंग मोसांग शामिल हैं.

अरुणाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव: मोदी की बयार, 60 में से 41 सीटों पर खिला कमल, बनाएगी सरकार
2014 में हुए चुनाव में कांग्रेस को 42 सीटें मिली थीं. भाजपा को 11 सीट, पीपीए को 5 और निर्दलीय उम्मीदवार को 2 सीट मिली थीं.

ईटानगर: अरुणाचल प्रदेश की 60 सदस्यीय विधानसभा के लिए हुए चुनाव में भाजपा को 41 सीट मिली हैं. शनिवार को घोषित अंतिम चुनाव परिणाम के मुताबिक पार्टी ने तीन सीटों पर निर्विरोध और 38 सीटों पर मतदान के बाद जीत हासिल की है. वहीं, केन्द्र में राजग के सहयोगी दल जद (यू) को सात, नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) को पांच, कांग्रेस को चार, पीपुल्स पार्टी ऑफ अरुणाचल को एक तथा निर्दलीयों को दो सीट मिली हैं. अधिकारियों ने बताया कि शुक्रवार को अपर सुबनसिरि जिले की दापोरिजो, दुम्पोरिजो और रागा सीटों पर गिनती में देरी हुई.

दापोरिजो सीट पर आज सुबह घोषित परिणाम में भाजपा के तानिकी सोकी ने कांग्रेस के तोगाम तमिम को हराया. विधानसभा चुनाव जीतने वाले प्रमुख भाजपा नेताओं में मुक्तो सीट से मुख्यमंत्री पेमा खांडू, चोवखाम सीट से उपमुख्यमंत्री चोवना मेन और मिआओ सीट से मंत्री कामलुंग मोसांग शामिल हैं.

यहां 2014 में हुए चुनाव में कांग्रेस को 42 सीटें मिली थीं. भाजपा को 11 सीट, पीपीए को 5 और निर्दलीय उम्मीदवार को 2 सीट मिली थीं, जिसके बाद यहां नबाम तुकी के नेतृत्व में कांग्रेस की सरकार बनी। हालांकि काफी राजनीतिक उथल-पुथल, नेताओं का एक दल से दूसरे दल में जाने के कारण साल 2016 में यहां पीपीए ने भाजपा के समर्थन से सरकार बनाई. राज्य के मुख्यमंत्री पेमा खांडू हैं.

लाइव टीवी देखें

पेमा खांडू राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री दोरजी खांडू के बेटे हैं. जो कांग्रेस पार्टी से थे। दोराजी का 30 अप्रैल, 2011 को एक हवाई हादसे में निधन हो गया था. पेमा खांडू ने इसके बाद निर्विरोध अपने पिता के निर्वाचन क्षेत्र मुक्तो से चुनाव जीता। उस वक्त वो भी कांग्रेस के उम्मीदवार थे, हालांकि 2016 में वह भाजपा में शामिल हो गए.