पूर्व वायुसेना प्रमुख बोले, 'राफेल जैसे विवादों पर नूराकुश्ती से गिरती है देश की प्रतिष्ठा'

पूर्व वायुसेना प्रमुख अरुप राहा ने शुक्रवार को कहा कि अरबों डॉलर के राफेल लड़ाकू विमान सौदे को लेकर सत्तारुढ़ एनडीए और विपक्षी कांग्रेस के बीच राजनीतिक नूराकुश्ती से राष्ट्र की प्रतिष्ठा गिरती है.

पूर्व वायुसेना प्रमुख बोले, 'राफेल जैसे विवादों पर नूराकुश्ती से गिरती है देश की प्रतिष्ठा'
अरुप राहा ने कहा कि इतनी बड़ी खरीददारी में हमेशा ‘कुछ गलत या कुछ सही’ हो सकता है. (फाइल फोटो)
Play

कोलकाता: पूर्व वायुसेना प्रमुख अरुप राहा ने शुक्रवार को कहा कि अरबों डॉलर के राफेल लड़ाकू विमान सौदे को लेकर सत्तारुढ़ एनडीए और विपक्षी कांग्रेस के बीच राजनीतिक नूराकुश्ती से राष्ट्र की प्रतिष्ठा गिरती है और दुनिया इसे देख रही है. उन्होंने कहा कि इतनी बड़ी खरीददारी में हमेशा ‘कुछ गलत या कुछ सही’ हो सकता है. उन्होंने कोलकाता में एक रक्षा संगोष्ठी के मौके पर कहा, ‘‘राफेल जैसे विवादों से राष्ट्र की प्रतिष्ठा गिरती है और दुनिया यह देख रही है. ये बड़ी खरीददारियां हैं. कुछ गलत या कुछ सही हो सकता है.’’ 

वायुसेना कर रही है राफेल विमानों के स्वागत की तैयारी, पायलटों की ट्रेनिंग शुरू

ऐसे विवाद देश के लिए अच्छे नहीं- पूर्व वायुसेना प्रमुख
पूर्व वायुसेना प्रमुख ने कहा कि ऐसे विवाद किसी देश की रक्षा समर्थता के लिए अच्छे नहीं हैं, क्योंकि तंत्र पर से भरोसा खत्म हो जाएगा. उन्होंने कहा, ‘‘सारी चीजें दस्तावेजों में होती है. छिपाने के लिए कुछ नहीं है. संबंधित पक्ष (सरकार और विपक्ष) हमेशा गोपनीय बैठक कर सकते हैं और उस पर चर्चा कर सकते हैं.’’ बता दें कि कांग्रेस आरोप लगा रही है कि राजग सरकार ने इस सौदे से अनिल अंबानी की कंपनी को मदद पहुंचाई. 

राफेल से मजबूत होगी भारतीय वायुसेना, हैरान करने वाली है रफ्तार और मारक क्षमता

पायलटों का एक दल फ्रांस में लेगा राफेल विमानों पर प्रशिक्षण
वहीं, राफेल सौदे को लेकर मचे सियासी घमासान के बीच भारतीय वायुसेना गुपचुप तरीके से इन लड़ाकू विमानों के स्वागत की तैयारियों में जुटी है, जिनमें इनके लिए जरूरी आधारभूत संरचना और पायलटों का प्रशिक्षण शामिल है. भारतीय वायुसेना इस साल के अंत तक पायलटों के एक दल को राफेल विमानों पर प्रशिक्षण के लिए फ्रांस भेजेगी. वायुसेना के कई दल पहले ही राफेल विमानों के निर्माता दसाल्ट एविएशन को भारतीय विशिष्टताओं को इस विमान में शामिल करने में मदद के लिये फ्रांस का दौरा कर चुके हैं. 

राफेल की खूबियां, rafale fighter aircraft, rafale aircraft features, rafale features, rafale deal, iaf

58000 करोड़ की लागत से खरीदे 36 राफेल विमान
गौरतलब फ्रांस के साथ 58,000 करोड़ रूपयों की लागत से 36 राफेल लड़ाकू विमानों की खरीद के लिये सितंबर 2016 में भारत ने एक अंतर सरकारी समझौता किया था. कई हथियारों और प्रक्षेपास्त्रों को ले जाने में सक्षम इन लड़ाकू विमानों की आपूर्ति अगले साल सितंबर से शुरू होनी है. 

(इनपुट भाषा से)

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.