राहुल गांधी बोले - जब तक 'मेड इन अमेठी' नहीं होगा देश आगे नहीं जाएगा

उन्होंने कहा कि अमेठी में फूड पार्क का काम कांग्रेस ने किया था लेकिन बीजेपी सरकार ने इसे आगे नहीं बढ़ाया.

राहुल गांधी बोले - जब तक 'मेड इन अमेठी' नहीं होगा देश आगे नहीं जाएगा
जीएसटी के बारे में राहुल ने कहा कि सरकार को कर कम करना चाहिए....(फोटो साभार: ANI)

अमेठी: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी अमेठी के तीन दिवसीय दौरे पर हैं. प्रशासन ने पहले उनके दौरे की अनुमति नहीं दी थी लेकिन बाद में मंजूरी दे दी. कांग्रेस उपाध्यक्ष ने दौरे के पहले दिन जगदीशपुर के कठौरा गांव में चौपाल लगाई. राहुल ने कहा, 'दो मुद्दे हैं हिन्दुस्तान में.... किसान और रोजगार का मसला. इनका समाधान सरकार को करना चाहिए. अगर समाधान नहीं कर सकते तो हमें मौका दे, हम वो काम छह महीने के अंदर करके दिखा देंगे." 

उन्होंने कहा कि हमारा मुकाबला चीन के साथ है. चीन और भारत की आबादी में ज्यादा फर्क नहीं है और दोनों ही बड़े देश हैं. चीन में हर रोज 50 हजार नए युवाओं को रोजगार मिलते हैं लेकिन हिन्दुस्तान में रोज केवल 450 युवा रोजगार पाते हैं. उन्होंने कहा कि चीन से मुकाबले की आवश्यकता है. मोबाइल फोन हो, वस्त्र हों या चप्पल, सब पर 'मेड इन चाइना' लिखा होता है. 'जब तक हम मेड इन इंडिया, मेड इन अमेठी और मेड इन उत्तर प्रदेश नहीं करेंगे, तब तक ये देश आगे नहीं जा सकता.'

ये भी पढ़ें: राहुल गांधी के साथ इस लड़की की तस्वीर हो रही है वायरल, जानें कौन है यह?

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि संप्रग सरकार के समय अमेठी में काफी काम हुआ. राजमार्ग का काम हुआ, अस्पताल, पेट्रोलियम संस्थान एवं अन्य संस्थान बने. उन्होंने कहा कि फूड पार्क का काम कांग्रेस ने किया था लेकिन भाजपा सरकार ने इसे आगे नहीं बढ़ाया. अमेठी के लिए फूड पार्क सबसे जरूरी चीज थी. फूड पार्क में 40 कारखाने अमेठी में लग जाते. खाद्य प्रसंस्करण, चिप्स, टमाटो सास, आंवला के अलग अलग कारखाने लगते.

राहुल ने कहा कि इससे किसान अपना माल सीधे फूड पार्क में बेच पाते और उनको सही दाम मिल पाता लेकिन 'मुझे काफी दुख हुआ है कि अमेठी के लोगों को भाजपा ने चोट पहुंचाई है. ये गलत है. मगर हम आपके लिए लड़ेंगे. जैसे पहले काम किया था, उससे दोगुना काम करके दिखाएंगे.'

ये भी पढ़ें: राहुल गांधी ने गुजरात में मंच से पूछा- 'केम छो', पढ़िए क्या मिला जवाब

 

जीएसटी के बारे में राहुल ने कहा कि सरकार को कर कम करना चाहिए और इसका सरलीकरण करना चाहिए. सरकार को छोटे व्यापारियों से उनकी मुश्किल पूछना चाहिए और बातचीत कर तय करना चाहिए कि किस तरह उनकी मदद की जा सकती है. उन्होंने मोदी को जीएसटी पर पुनर्विचार करने का सुझाव देते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी ने कहा था कि एक कर होना चाहिए और 18 प्रतिशत से अधिक कर नहीं होना चाहिए. इसके बारे में सरकार को सोचना चाहिए.

उन्होंने कहा कि भाजपा ने जीएसटी को लागू किया मगर जीएसटी को वो समझी नहीं. हर प्रदेश में अलग-अलग कानून बना दिए. छोटे से दुकानदार को हर महीने तीन फॉर्म भरने पड़ते हैं. राहुल ने कहा कि भाजपा ने जीएसटी को समझा नहीं है और 'गलत जीएसटी लागू कर दी है.' छोटे और मंझोले दुकानदार एवं कारोबारी रो रहे हैं. लाखों का कारोबार बंद हो गया और बेरोजगारी बढ़ती जा रही है.

(इनपुट भाषा से भी)

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.