close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

संगीत सोम के ताजमहल वाले बयान पर ओवैसी ने किया पलटवार...

संगीत सोम के ताजमहल वाले बयान पर ओवैसी ने किया पलटवार...
AIMIM नेता असदुद्दीन ओवैसी का संगीत सोम पर पलटवार (फाइल फोटो)

नई दिल्लीः यूपी से बीजेपी के विधायक संगीत सोम सिंह के द्वारा ताजमहल को लेकर दिए गए विवादित बयान पर AIMIM नेता असदुद्दीन ओवैसी ने पलटवार किया है. ओवैसी ने ट्वीट कर कहा, 'लाल किले को भी 'गद्दारों' ने बनाया था, तो क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लाल किले पर तिरंगा फहराना छोड़ देंगे? क्या मोदी और योगी घरेलू और विदेशी पर्यटकों से कहेंगे कि वे ताजमहल को देखने न आएं? यहां तक कि दिल्ली में हैदराबाद हाउस को 'गद्दारों' ने ही बनाया था. क्या मोदी यहां विदेशी मेहमानों की मेजबानी छोड़ देंगे? ओवैसी के ट्वीट पर जब जी मीडिया से उनसे बात की तो उन्होंने अपनी बात को दोहराते हुए कहा कि संगीत सोम एक राष्ट्रीय पार्टी के विधायक हैं. उनका बयान उनकी पार्टी की विचारधारा को बयां करता है.

ओवैसी ने आगे कहा, 'इसलिए मैंने पूछा है कि अगर ताज महल को गद्दारों ने बनवाया है तो लाल किले को गद्दारों ने बनवाया है पीएम मोदी को उस पर तिरंगा फहराना छोड़ देना चाहिए.' ओवैसी ने कहा कि जिस किसी में समझदारी है वो संगीत सोम के इस बयान से असहमत होगा. ओवैसी ने कहा कि ताज महल सातंवा अजूबा है. बीजेपी को चाहिए कि अब ताज महल आने वाले पर्यटकों को कह दें कि हम आपको यह नहीं दिखाएंगे, यह गद्दारों की निशानी है.  ओवैसी ने कहा कि अगर मुगल गद्दार थे तो हैदराबाद हाउस में पीएम मोदी ने ओबामा को चाय क्यों पिलाई थी? 

ओवैसी ने सवाल किया क्या संगीत सोम का बयान बीजेपी की जिम्मेदारी नहीं है? ओवैसी ने कहा कि अगर मैं ऐसा बयान दूं तो आप मुझसे ना जाने क्या-क्या सवाल पूछेंगे.

यह भी पढ़ेंः ताजमहल को लेकर बीजेपी नेता संगीत सोम ने कहा -बदला जाएगा इतिहास

ओवैसी ने कहा कि यह बात झूठ है कि जितने ताज महल बनवाया उसने अपने पिता को कैद कर लिया था. उन्होंने कहा कि जिसने ऐसा बयान दिया, लगता है वो अलग दुनिया से है. ओवैसी ने कहा कि ये सरकार सोचती है कि इनकी सोच पत्‍थर की लकीर है. बीजेपी सिर्फ अपनी बात करती है.  ओवैसी ने कहा कि केंद्र सरकार मुद्दों पर बहस में विश्‍वास ही नहीं रखती. जीएसटी और नोटबंदी में यह सरकार नाकामयाब हो गए.